कोटा

--Advertisement--

5वीं के स्टूडेंट की हॉस्पिटल में हुई मौत, मां ने कहा-टीचर ने की थी पिटाई

मृतक बच्चे की मां ने बताया कि होमवर्क नहीं करने पर टीचर ने पिटाई की।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 06:37 AM IST
मृतक छात्र मोहन सोनी का मां नानकला रोती हुई। मृतक छात्र मोहन सोनी का मां नानकला रोती हुई।

कोटा. रविवार को एक स्कूली छात्र की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। छात्र को एक दिन पहले नए अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान रविवार को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। इधर, छात्र की मां ने स्कूल टीचर पर आरोप लगाया है कि उसने कुछ दिन पहले छात्र की पिटाई की थी, इसी सदमे से उसकी मौत हुई। पुलिस ने संदिग्ध मौत मानकर जांच शुरू कर दी है।


- पुलिस ने बताया कि रंगबाड़ी निवासी 5वीं के छात्र मोहन सोनी (12) की नए अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

- मां नानकला ने आरोप लगाया है कि 4-5 दिन पहले मैथ्स के टीचर रामनिवास नागर ने मोहन की पिटाई की थी। स्कूल से लौटकर मोहन ने बताया कि होमवर्क नहीं करने पर टीचर ने पिटाई की। वह दो दिन से बुखार में खाना नहीं खा रहा था। उसका इलाज करवाया जा रहा था। उसकी सदमे में रविवार को मौत हो गई।

- इधर, महावीर नगर सीआई का कहना है कि शुरुआती जांच में मारपीट करने की पुष्टि नहीं हुई है। जांंच जारी है।

टीचर ने पीटा, पैनिक अटैक से मौत

- परिचित उद्वव गोयल का कहना है कि मोहन की मां नानकला मूलतया नेपाल की रहने वाली है, जो खाना बनाने का काम करती है और उसके यहां रहती है। मोहन तीन भाइयों में सबसे छोटा था। उसे कुछ दिन पहले ही पिटाई का पता चला था।

- उद्वव ने बताया कि डॉक्टरों का कहना है कि मोहन की मौत पैनिक अटैक से हुई। सीआई ताराचंद का कहना है कि पोस्टमार्टम से मौत के कारणों का पता लग सकेगा। दोष साबित हुआ तो अन्य धाराएं जोड़कर मुकदमा दर्ज होगा।

स्कूल मैनेजमेंट ने दी सफाई

स्कूल मैनेजमेंट की आरजे सुमन ने बताया कि मां ने दो दिन पहले बताया कि मैथ्स टीचर रामनिवास नागर ने मोहन सोनी से मारपीट की। मैंने पता किया तो हाथ पर हल्के हाथ से पैमाने से मारकर डांट लगाई थी। मैंने मोहन को 3 डॉक्टरों से दिखाया। मां ने कहा कि वो बहकी बातें कर रहा है तो मैं मनोचिकित्सक के पास लेकर गया। बच्चे को दो डॉक्टर अलग-अलग दवाएं दे रहे थे। कोई भी टीचर बिना बात नहीं डांटता, वो चाहता है कि बच्चा योग्य और कुशल बन सके। मौत की वजह पर डॉक्टर व पुलिस भी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है। उसकी मौत का बेहद खेद है, लेकिन हमारी गलती नहीं है।

मृतक मोहन। मृतक मोहन।
X
मृतक छात्र मोहन सोनी का मां नानकला रोती हुई।मृतक छात्र मोहन सोनी का मां नानकला रोती हुई।
मृतक मोहन।मृतक मोहन।
Click to listen..