--Advertisement--

मकर संक्रांति पर चाइनीज मांझे से 30 पक्षी घायल, 3 की मौत

25 को ह्मूमन हैल्पलाइन ने व 4 को सैर संस्थान ने बचाया सिटी रिपोर्टर | कोटा

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 07:45 AM IST

कोटा. मकर संक्रांति पर चाइनीज मांझे में फंसकर 30 पक्षी घायल हुए। 3 कबूतरों की मौत हो गई। ह्मूमन हैल्पलाइन सोसायटी ने 25, सैर संस्था ने 4 व राहगीरों ने 1 पक्षी को देकर बचाया। पक्षियों का इलाज मोखापाड़ा पशु चिकित्सालय व जू के चिकित्सकों ने किया।


हैल्पलाइन के संयोजक मनोज जैन आदिनाथ ने बताया कि दो गंभीर घायल पक्षियों का मोखापाड़ा पशु चिकित्सालय में ऑपरेशन किया गया। एक कबूतर के पंख काटने पड़े, जो अब कभी नहीं उड़ पाएगा। दादाबाड़ी शास्त्री नगर में दो श्वान के पिल्ले मांझे में फंसकर घायल हुए, जिनका उपचार किया गया। वहीं, सैर संस्था के पंकज खंडेलवाल व भारत कुमार ने घायल 3 कबूतर व 1 चमगादड़ की जान बचाई। ऐसे ही जुनैद अख्तर, सन्नी सोमानी, सौरभ वर्मा व हेमंत कुमार को कोटा यूनिवर्सिटी रोड पर मांझे में फंसा बाज मिला। उसे मांझे से निकालकर कोटा चिड़ियाघर पहुंचाया। जहां डॉ. एके पांडेय ने इलाज किया।


घायल पक्षी दिखाकर किया जागरूक
हैल्पलाइन कार्यकर्ताओं को दादाबाड़ी इलाके से सूचना मिली कि पतंग विक्रेता चाइनीज मांझा बेच रहा है। कार्यकर्ताओं ने इसकी पुष्टि एक बच्चे से मांझा मंगवाकर की। कार्यकर्ता ने दादाबाड़ी थानाधिकारी व पार्षद के साथ पतंग विक्रेता के यहां पहुंचे पर उसके पास चाइनीज मांझा नहीं मिला। हेल्पलाइन कार्यकर्ताओं ने पतंग विक्रेता व वहां पतंग खरीदने वालों को घायल पक्षी दिखाकर चाइनीज मांझे का उपयोग नहीं करने के लिए जागरूक किया।