--Advertisement--

7 घंटे में ढहा दिए 25 साल पुराने 75 अतिक्रमण, ज्वैलर से लूट की वारदात के बाद कार्रवाई

विरोध की आशंका के चलते रविवार को हुई कार्रवाई, सभी रास्तों पर बंद रहा ट्रैफिक

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 05:47 AM IST
anti encroachment campaign after loot with jeweller in kota

कोटा. यूआईटी प्रशासन ने रविवार को पुलिस के साथ मिलकर बड़ी कार्रवाई करते हुए जीएमए प्लाजा के आसपास के 75 से अधिक अतिक्रमण को ध्वस्त कर दिया। इसमें से अधिकतर अतिक्रमण तो 25 साल पुराने थे। विरोध की आशंका के चलते कार्रवाई के दौरान सभी रास्तों पर यातायात बंद कर दिया गया। इससे सरोवर से सब्जीमंडी की ओर आने वाला 90 फीट का रोड चौड़ा हो गया, वहीं हजीरा बस्ती व बिजली विभाग के दफ्तर की दीवार नजर आने लगी। कार्रवाई करीब 7 घंटे चली।


जेपी मार्केट के तहत यूआईटी ने जीएमए प्लाजा, साइमन प्लाजा, स्वर्ण रजत मार्केट और न्यू क्लॉथ मार्केट विकसित किए थे। इनके आसपास अतिक्रमियों ने कब्जा करके गुमटियां लगा ली थी। हालत यह हो गई थी कि वहां से एक कार भी आसानी से नहीं निकल सकती थी। अतिक्रमियों ने यहां के सभी प्रवेशद्वारों को छोटा कर दिया था। इन्हें हटाने के लिए व्यापारियों ने कई बार ज्ञापन दिया था, लेकिन हर बार प्रशासन पीछे हट जाता था। 11 दिसंबर को ज्वैलर जगदीश सोनी के साथ चाकूबाजी व लूट की घटना के बाद यहां के व्यापारियों ने इसके लिए यहां हो रहे अतिक्रमण को भी जिम्मेदार माना।

पार्किंग पर भी कर लिया था कब्जा
जेपी मार्केट में जो अतिक्रमण हटाए उनमें कई तो 25 साल पुराने थे, जिस मामा चने वाले की दुकानों को तोड़ा उसकी ओर से वर्ष 1992 में दुकान आवंटन के कागज अधिकारियों को दिखाए थे। इसी प्रकार यहां पर कांग्रेस शासन के दौरान घंटाघर से दुकानदारों को पुनर्वास करके छोटे कियोस्क के लिए जमीन दी गई थी, उनके द्वारा बड़े-बड़े अतिक्रमण कर लिए गए थे। अतिक्रमियों ने पार्किंग और अन्य जरूरी कार्यों के लिए छोड़ी गई जमीन पर भी कब्जा कर लिया था।

सुबह 8 बजे शुरू की कार्रवाई
एएसपी अनंत कुमार, यूआईटी की डीएस कीर्ति राठौड़ व दिप्ती मीणा के नेतृत्व में सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक कार्रवाई चली। इसके बाद 3 जेसीबी की सहायता से तहसीलदार इमामुद्दीन, बद्रीलाल मीणा, रामकल्याण यादवेंद्र ने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की। जीएमए प्लाजा के सामने सबसे पहले ब्राइट कूलर पर जेसीबी चली। कूलर फैक्ट्री संचालक ने दुकान के चारों ओर 10 से 20 फीट तक कूलर जमा कर रखे थे।

पुनर्वास का भरोसा देकर तोड़ी दुकान

यहां 90 फीट रोड पर मामा चने वाले ने पक्की दुकान बना रखी थी। इससे रोड छोटा हो रहा था। आवंटी अब्दुल कय्यूम के परिजन के कागज देखकर डीएस कीर्ति राठौड़ व दिप्ती मीणा ने दुकान तोड़ने से मना करते हुए उन्हें सोमवार को ऑफिस बुला लिया। इस बीच एएसपी अनंतकुमार ने कहा कि यह मौका दुबारा नहीं मिलेगा। तभी सचिव आनंदी वैष्णव मौके पर पहुंचे। उन्होंने दुबारा से कागज देखे और उन्हें पुनर्वास करने का भरोसा दिलाते हुए एक दुकान भी दिलवा दी। इसके बाद दुकान टूटी।

पार्किंग बनाने की मांग

कोटा व्यापार महासंघ ने अतिक्रमण से मुक्त हुई जमीन पर पार्किंग बनाने की मांग की है। अध्यक्ष क्रांति जैन व महासचिव अशोक माहेश्वरी ने कहा कि इस कार्रवाई से असामाजिक गतिविधियों पर अंकुश लगेगा। उन्होंने कहा कि शहर के अन्य क्षेत्रों से भी अतिक्रमण हटाकर पार्किंग विकसित किया जाना चाहिए।

अब बनेगा 90 फीट का रोड

सचिव आनंदी ने मौके पर ही एक्सईएन अनिल गालव को आदेश दिए कि सोमवार से ही यहां 90 फीट का रोड बनाने का काम शुरू कर दिया जाए। दुबारा से अतिक्रमण नहीं हो, इसके भी प्रयास रहेंगे। जीएमए प्लाजा के अध्यक्ष राकेश जैन व महासचिव रमेश आहूजा ने कार्रवाई के लिए यूआईटी तथा पुलिस को धन्यवाद दिया।

... और इन बाजारों में भी है अतिक्रमण
प्रशासन ने जेपी मार्केट से तो अतिक्रमण हटा दिए, लेकिन शहर के घंटाघर, रामपुरा, अग्रसेन बाजार, सब्जीमंडी, भीमगंजमंडी, गुमानपुरा, छावनी सहित अन्य बाजार भी ऐसे हैं जहां लोगों ने अतिक्रमण किया हुआ है। सब्जी मंडी में तो व्यापारियों ने ही अपनी दुकानों को बाहर अतिक्रमण कर रखा है। व्यापारियों ने इन अतिक्रमणों को भी हटाने का आग्रह किया है।

anti encroachment campaign after loot with jeweller in kota
anti encroachment campaign after loot with jeweller in kota
X
anti encroachment campaign after loot with jeweller in kota
anti encroachment campaign after loot with jeweller in kota
anti encroachment campaign after loot with jeweller in kota
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..