--Advertisement--

आईजी ऑफिस के सामने एटीएम गार्ड पर हमला, गेट बंद कर बचाई जान

हमलावरों ने लाठी से सिर फोड़ा, 7 जनवरी को रात साढ़े 11 बजे की घटना

Danik Bhaskar | Jan 10, 2018, 05:12 AM IST

कोटा. नयापुरा में आईजी ऑफिस के सामने स्थित सिंडीकेट बैंक के एटीएम पर कार्यरत एक गार्ड के साथ 7 जनवरी की रात दो युवकों ने मारपीट कर दी। आरोपियों ने लाठी से वार किया, जिससे उसके सिर पर गंभीर चोट आई। एमबीएस अस्पताल में उसके सिर पर टांके लगाए गए। गार्ड ने इस मामले में मंगलवार को पुलिस को रिपोर्ट दी है।


छावनी के रहने वाले गार्ड कुलदीप गौतम ने बताया कि 7 जनवरी की रात करीब साढ़े 11 बजे ड्यूटी के दौरान ही मैं टॉयलेट करने के लिए एटीएम से बाहर निकला। टॉयलेट कर रहा था, तभी दो युवक आए और पूछा कि कहां काम करते हो, मैंने एटीएम में ड्यूटी करना बता दिया। इसके बाद उन्होंने पीछे से मेरे सिर पर लाठी से वार कर दिया। मैं सिर पकड़ते हुए दौड़ा और एटीएम में घुस गया। तब तो ये लड़के चले गए, कुछ देर बाद फिर से आए और एटीएम के बाहर खड़े होकर मुझे ललकारने लगे। मैंने अंदर से एटीएम की चिटकनी बंद कर ली और खुद को एटीएम में कैद कर लिया।


इस दौरान सिर से खून बहना शुरू हो गया। रात करीब 12:30 बजे बाद ये लड़के गए तो फिर एमबीएस अस्पताल में जाकर इलाज कराया। अगले दिन बैंक प्रबंधन को सारी स्थिति से अवगत कराया और नयापुरा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। उधर, नयापुरा पुलिस का कहना है कि फुटेज के आधार पर आरोपी युवकों की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं।

सीनियर डीसीएम की गाड़ी चोरी करके नयापुरा होते हुए भागा आरोपी

कोटा | डीआरएम ऑफिस के बाहर से चोरी हुई सीनियर डीसीएम विजय प्रकाश की सरकारी गाड़ी की तलाश में भीमगंजमंडी पुलिस ने मंगलवार को 50 से ज्यादा स्थानों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इसी बीच डीआरएम ऑफिस में लगे 6 कैमरों में से एक में आरोपी का स्पष्ट फुटेज मिल गया।


सीआई रामखिलाड़ी मीणा ने बताया कि आरोपी करीब डेढ़ घंटे वहीं घूमता रहा। गाड़ी चुराने के बाद वह बजरिया से थाने के सामने होता हुआ दो रास्ता और सर्किट हाउस तक पहुंचा। वहां से मुड़कर कलेक्ट्रेट सर्किल और फिर एमबीएस की तरफ गया। एमबीएस अस्पताल के बाद इस गाड़ी की मौजूदगी किसी फुटेज में नजर नहीं आई। यहां तक गाड़ी में अकेला यही आरोपी नजर आ रहा है। कुछ टोल नाकों के भी फुटेज खंगाले, लेकिन वहां गाड़ी नजर नहीं आई। ऐसे में अब आशंका है कि वारदात के बाद आरोपी ने शहर में ही कहीं छिपा दिया। उधर, आरपीएफ ने भरतपुर, गंगापुरसिटी, श्योपुर, जयपुर आदि स्थानों पर तलाश की।


3 साल में रेलवे के 3 अधिकारियों की गाड़ियां चोरी हो चुकी हैं। वर्ष 2014 में रामपुरा बाजार से सीनियर डीईएन (नॉर्थ) की गाड़ी चोरी हुई थी। इसके बाद सीनियर डीओएन यशवंत चौधरी की रेलवे ऑफिसर्स कॉलोनी से भी गाड़ी चोरी हुई थी। अब सीनियर डीसीएम की गाड़ी चोरी हुई है।