--Advertisement--

मकान के फर्जी दस्तावेजों को गिरवी रखकर ले लिया 3 करोड़ का लोन

गैंग ने शहर के 37 लोगों से की धोखाधड़ी, गिरोह के 6 बदमाश हो चुके पहले गिरफ्तार

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:43 AM IST

कोटा. मकान के दस्तावेजों को स्कैन करके नकली बनाकर उनको गिरवी रखकर पैसे लेने और दस्तावेज बेचने वाले गिरोह के सरगना को रामपुरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरोह ने शहर के करीब 37 से ज्यादा लोगों के मकान के असल दस्तावेजों को स्कैन करके नकली बनाए और गिरवी रखकर करोड़ों रुपए बाजार से उधार ले लिए। अब तक 3 करोड़ 9 लाख रुपयों का हिसाब-किताब सामने आया है।


डीएसपी बने सिंह ने बताया कि गिरोह का सरगना भावेश शर्मा (32) पुत्र राजेन्द्र प्रसाद निवासी घंटाघर को 28 फरवरी को गिरफ्तार किया गया। भावेश होली के मौके पर घर आया और पुलिस ने उसे पकड़ लिया। भावेश ने इरफान अंसारी, लोकेंद्र सिंह, रफत खान, अल्ताफ, महेन्द्र कुशवाह, शहजाद अली के साथ मिलकर आपराधिक षडयंत्र रचकर धोखाधड़ी की थी। गिरोह ने करीब 37 लोगों के मकान के फर्जी दस्तावेज बनाकर बतौर सिक्यूरिटी अन्य लोगों के पास गिरवी रखकर बाजार से पैसा उठाया।

बदमाशों ने बाकायदा जीएमए प्लाजा में इस चिटफंड कम्पनी का ऑफिस खोल रखा था। बदमाश लोगों से पैसे लेकर थोड़े दिन में दोगुना करने का लालच भी देते थे और फिर बाद में पैसा हड़प लेते थे। बदमाशों ने इस प्रकार बेईमानी, धोखाधड़ी व जालसाजी करके लोगों के कुल 3 करोड़ 9 लाख 50 हजार रुपए हड़प लिए। शेष पेज |14