--Advertisement--

पत्नी और बेटे की मौत के बाद पति बोला- मुझे पता था एक दिन कोई मरेगा

मुझे तो पहले से पता था कि एक दिन कोई तो मरेगा... यह मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि पानी सर से निकल चुका था।

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 07:57 AM IST
double murder

कोटा। मुझे तो पहले से पता था कि एक दिन कोई तो मरेगा... यह मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि पानी सर से निकल चुका था। जब पत्नी सोहनी नवंबर में गायब हुई तो मैं पुलिस थाने के चक्कर लगाकर थक गया। हर बात उनको बताई लेकिन, कोई समझ ही नहीं सका। पुलिस सुनवाई कर लेती तो गोलियां नहीं चलती। मैंने पुलिस को बताया था कि सोहनी का प्रेमी चंद्रकांत पाठक उर्फ दिलीप उर्फ चेतन शार्प शूटर हैं। यह कहते-कहते नीरज पाराशर रूआंसा हो गए। बोले- पुलिस अब जितनी मुस्तैदी दिखा रही है, पहले दिखाई होती तो मेरा बेटा, पत्नी जिंदा होते। अब क्या पुलिस मेरा बिखर चुका परिवार लौटा देगी। उसने सोमवार को फिर हत्या का आरोप चेतन पर लगाया।


पुलिस का दावा है कि वो जल्द बदमाशों को पकड़ लेगी। गौरतलब है कि चोपड़ा फार्म गली नंबर 2 निवासी नीरज पाराशर की पत्नी सोहनी पाराशर (35) और 12 वर्षीय बेटे पीयूष की अज्ञात हमलावर ने रविवार देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी थी।


गोली के निशान बता रहे भयावहता: जिस कमरे में हत्या हुई? वहां की दीवार पर लगा गोली का निशान भयावहता की कहानी कह रहा हैं। फर्श पर खून और दीवारों पर खून के छीटे अभी तक चीख-चीखकर उस हैवान की बर्बरता को बयां कर रहे हैं। इधर, कमरे में रखे मासूम पीयूष के खिलौने और सलोनी का सिंदूर नीरज को रह-रहकर उनकी याद दिला रहा हैं। नीरज ने सोमवार को कुछ नहीं खाया, परिजनों ने रात को उसे समझा-बुझाकर रोटी के कुछ निवाले बमुश्किल खिलाया।


एक रात पहले आकर रुके थे बदमाश: पुलिस अधिकारिक तौर पर कुछ नहीं बोल रही, लेकिन दबी जुबान से यह मानती है कि हत्या में सोहनी के आशिक का हाथ हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एक बदमाश स्टेशन की एक होटल में आकर रुका था, जिसकी तलाश पुलिस अब सरगर्मी से कर रही हैं। नीरज ने तो अपनी रिपोर्ट में चेतन को हत्या में शक के तौर पर नामजद करवाया हैं। इधर, पुलिस ने सोमवार को दोनों के शवों को पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

X
double murder
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..