--Advertisement--

बुजुर्ग ने लिखा- नवासी ही दे मेरी चिता को आग, फिर फंदा लगाकर किया सुसाइड

उसके पास से दो सुसाइड नोट मिले। इसमें एक में अपनी बेटी लक्ष्मी के लिए लिखा है कि वह उसे बहुत प्यार करता है।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 07:40 AM IST
Elderly man commits suicide

कोटा. उद्योग नगर थाना क्षेत्र के प्रेमनगर में शुक्रवार को एक वृद्ध ने फंदा लगाकर जान दे दी। उसके पास से दो सुसाइड नोट मिले। इनमें से एक उसकी बेटी को संबोधित है और दूसरा उद्योग नगर सीआई के नाम लिखा है। प्रारंभिक तौर पर सामने आया कि वृद्ध लंबे समय से बीमार और आर्थिक रूप से भी परेशान चल रहा था।

कुछ दिनों से अलग थी पत्नी

एएसआई संजय वर्मा ने बताया कि अशोक कुमार सिंधी (59) प्रेमनगर में न्यू स्टार स्कूल के पास एक किराए के कमरे में रहता था। पहले पत्नी भी उसके साथ रहती थी, लेकिन करीब 20 दिन पहले दोनों में किसी बात पर अनबन हो गई तो पत्नी पास ही किराए से रहने वाली बेटी के पास जाकर रहने लगी। वर्तमान में वह अकेला रह रहा था और पिछले माह ही उसका कोई ऑपरेशन भी हुआ था, इसलिए ज्यादा काम भी नहीं कर पाता था। सुबह जब वह कमरे से बाहर नहीं निकला तो पड़ोसियों ने आवाज लगाई। बाद में जाली से देखा तो वह फंदे से लटका हुआ था। सूचना पर हम मौके पर पहुंचे और पड़ोस में ही रहने वाली उसकी पत्नी बेटी भी गई। दरवाजे को खोलकर बाहर निकाला। एमबीएस अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

बेटी सीआई के नाम लिखे सुसाइड नोट

उसके पास से दो सुसाइड नोट मिले। इसमें एक में अपनी बेटी लक्ष्मी के लिए लिखा है कि वह उसे बहुत प्यार करता है। अब मुझसे भारी काम नहीं होता और तेरी मां भी मुझसे परेशान है। मम्मी से कहना कि सारा सामान वैसा ही छोड़कर जा रहा हूं, जैसा वह छोड़कर गई थी। मेरी अंतिम इच्छा है कि मेरी चिता को आग मेरी नवासी पायल ही लगाए। मुझे माफ करना, मैं बहुत परेशान हो गया हूं। वहीं दूसरा नोट सीआई के नाम लिखा है, जिसमें कहा है कि सीआई साहब, मैं अपनी परेशानी के कारण आत्महत्या कर रहा हूं, आप मेरे बच्चों को परेशान मत करना। इसमें फिर वही बात दोहराई है कि मेरी चिता को आग नवासी ही लगाए, तब ही मेरी आत्मा को शांति मिल पाएगी।

X
Elderly man commits suicide
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..