--Advertisement--

पिस्टल तान बोला लुटेरा- चुपचाप बैठ जाओ, चिल्लाओगे तो सभी मार दिए जाओगे

थाने से सिर्फ 161 कदम दूर गोल्ड लोन कंपनी में घुसे 4 डकैत, 5 मिनट में 27 किलो सोना लूटा

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 06:41 AM IST

कोटा. यहां नयापुरा थाने से महज 161 कदम दूरी पर स्थित मणप्पुरम फाइनेंस लि. की शाखा में सोमवार को दिनदहाड़े डकैती हुई। हथियारबंद 4 लुटेरे दोपहर करीब 12.57 बजे पहली मंजिल पर स्थित ब्रांच में घुसे और 1.02 बजे 27 किलो सोना लूटकर फरार हो गए। बमुश्किल 5 मिनट में यह पूरा घटनाक्रम हो गया। साेने की कीमत करीब 8 करोड़ रुपए बताई जा रही है।

- फाइनेंस कंपनी के दफ्तर में वे 10 मिनट कितने खौफनाक थे? यह उन्हीं लोगों से समझा जा सकता है, जो उस वक्त ऑफिस में थे।

- इस पूरे घटनाक्रम के वक्त 4 कर्मचारियों के अलावा कुछ ग्राहक भी यहां मौजूद थे।

- धड़ाधड़ घुसे लुटेरों ने वहां मौजूद लोगों को धमकाते हुए कहा-हाथ खड़े करो, चुपचाप वहां जाकर बैठ जाओ, चिल्लाना मत, मारे जाओगे।

- भास्कर ने उन सभी लोगों से बात की, जो उस वक्त ऑफिस में मौजूद थे।

#इन चार प्रत्यक्षदर्शियों से सुनिए, कैसे बदमाशों ने लूट काे अंजाम दिया

बदमाशों का लहजा हरियाणवी था: धन्नालाल, राजनगर

- मेरा यहां करीब 200 ग्राम सोना गिरवी है व ब्याज जमा कराने आया था। बदमाशों ने बाहर निकल रही एक महिला को धक्का देकर गिराया। उनकी बातचीत का लहजा हरयाणवी लग रहा था। उन्होंने मैनेजर की कनपटी पर पिस्टल तानी व सोना बैग में भरा।

गन प्वाइंट पर कवर किया: दिव्यांश, अस्टिटेंट ब्रांच हैड
- बदमाश ने सभी कर्मचारियों को केबिन के अंदर की तरफ उल्टा मुंह करके बिठाया और बाहर मौजूद ग्राहकों को एक तरफ लगी बैंच पर। इसके बाद पिस्टल तानते हुए मैनेजर को अंदर ले गए व सोना लूट लिया।

कस्टमर के बाहर निकलते समय घुसे: लीला सैनी, कर्मचारी
- मैं गेट पर खड़ी थी। एक युवक एंट्री कराने आया और महिला ग्राहक को धक्का देकर अंदर आया। मैंने टोका तो उसने कनपटी पर पिस्टल तान दी। उसके पीछे एक और बदमाश आया और अंदर खड़े युवक समेत सभी ने पिस्टल तान दी। फिर हेलमेट पहने एक और बदमाश अंदर आया।

सायरन की आवाज सुन पुलिस को बताया: मनीष, दुकानदार
- जिस बिल्डिंग में यह शाखा संचालित है, यह मेरी ही है। कंपनी के ऑफिस के नीचे दुकान चलाता हूं। दोपहर 1 बजे मैंने दुकान खोली तो कंपनी का सायरन बजा। महिला कर्मचारी लीना की आवाज आई तो मैंने पुलिस को बताया।