--Advertisement--

जेईई एडवांस: निशक्तों को पहली बार दिए जाएंगे सहायक, रजिस्ट्रेशन के समय बतानी होगी कैटेगिरी

जेईई मेन्स की कट ऑफ के आधार पर 5656 सामान्य वर्ग, 3024 ओबीसी, 1680 एससी व 840 एसटी कैटेगिरी स्टूडेंट्स एडवांस के लिए क्व

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 07:54 AM IST

कोटा. आईआईटी कानपुर ने जेईई एडवांस में निशक्तों को राहत दी है। देखने में असक्षम, डिसलेक्सिया व हाथ या अंगुलियां नहीं होने वाले उम्मीदवारों को सहायक उपलब्ध कराना तय किया है। इस संबंध में सर्कुलर भी जारी दिया है। जेईई एडवांस के रजिस्ट्रेशन के समय अभ्यर्थी निशक्त कैटेगिरी में जाकर उस सुविधा का लाभ उठा सकता है। ऑनलाइन एग्जाम होने के कारण शारीरिक रूप से असक्षम लोगों को कंप्यूटर ऑपरेट करने में दिक्कत आ सकती है। इस कारण आईआईटी कानपुर ने यह प्रावधान किया है।


सेंटर अलॉटमेंट के बाद अभ्यर्थी को जेईई एडवांस से एक दिन पहले सेंटर पर जाना होगा। वहां मौजूद आईआईटी व सेंटर के अधिकारी अभ्यर्थियों को 11वीं कक्षा के साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स से मिलवाएंगे। वहां से अभ्यर्थी एक छात्र का चयन करेगा, जो सहायक की भूमिका निभाएगा। अभ्यर्थी खुद सेंटर पर सहायक नहीं ले जा पाएगा। इसके साथ ही ऐसे निशक्त अभ्यर्थियों को पेपर सॉल्व करने के लिए एक घंटे का अतिरिक्त समय भी दिया जाएगा। उनका पहली पारी का पेपर सुबह 12 की जगह 1 बजे और दूसरा पेपर दोपहर 5 की जगह 6 बजे समाप्त होगा।

इतने निशक्त करेंगे एडवांस के लिए क्वालीफाई

जेईई मेन्स की कट ऑफ के आधार पर 5656 सामान्य वर्ग, 3024 ओबीसी, 1680 एससी व 840 एसटी कैटेगिरी स्टूडेंट्स एडवांस के लिए क्वालीफाई करेंगे।