कोटा

--Advertisement--

एनटीए से JEE एडवांस परीक्षा नहीं कराना चाहती आईआईटी

जेईई एडवांस एनटीए से करवाने को लेकर बना संशय

Dainik Bhaskar

Dec 29, 2017, 08:08 AM IST
IIT does not want JEE Advanced examination from NTA

कोटा. जेईई एडवांस की क्वालिटी मेनटेन करने के लिए आईआईटी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी से एंट्रेंस एग्जाम करवाने के पक्ष में नहीं है। इसके साथ ही अब इस बात पर संशय हो गया है कि साल 2019 में एनटीए एडवांस करवाएगी या नहीं। अब तक एडवांस का एग्जाम आईआईटी की ओर से ही करवाया जाता है। हर साल किसी एक आईआईटी को एग्जाम की जिम्मेदारी चाहती है।

अब मानव संसाधन मंत्रालय के प्रस्ताव के अनुसार इस परीक्षा को आईआईटी की जगह एनटीए से करवाए जाना प्रस्तावित है। मानव संसाधन मंत्रालय के प्रस्ताव के बाद दिसंबर में ही आईआईटी डायरेक्टर्स की मीटिंग हुई है। इस मीटिंग में आईआईटी के डायरेक्टर एनटीए से यह एग्जाम करवाने के पक्ष में नजर नहीं आए हैं। यह बात मानव संसाधन मंत्रालय के अधिकारियों तक भी पहुंच गई है। इससे पहले आईआईटी जेईई एडवांस का पेपर आसान करने व सीटें बढ़ाने की बात को भी खारिज कर चुकी है।

आईआईटी डायरेक्टर्स का कहना है कि एडवांस का पेपर तैयार करने में छह से आठ माह लगते हैं। अब पेपर ऑनलाइन होने की वजह से अधिक सतर्कता रखनी पड़ेगी। सवालों की गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए ऑनलाइन पेपर बनाने पड़ेंगे। पेपर सेट करने का काम आईआईटी के एक्सपर्ट्स ही करते रहे हैं। ऐसे में किसी और एजेंसी को यह काम सौंपने पर उसकी गुणवत्ता पर असर पड़ेगा।

खास बात यह है कि तय नहीं होता पैटर्न
जेईई एडवांस का सिलेबस तय है, लेकिन उसका पैटर्न और मार्किंग स्कीम तय नहीं होती। हर साल अलग अलग आईआईटी अपने अपने अनुसार सवालों की संख्या और मार्किंग स्कीम तय करती है। इसका खुलासा पेपर सामने आने के बाद ही होता है। हर साल ही स्कीम बदल रही है। इस साल एडवांस की जिम्मेदारी आईआईटी कानपुर को सौंपी गई है। 20 मई 2018 को एडवांस का ऑनलाइन एग्जाम होगा।

X
IIT does not want JEE Advanced examination from NTA
Click to listen..