--Advertisement--

ऐन वक्त पर जनशताब्दी और कोटा-कटरा ट्रेन रद्‌द, रेलवे को 34 लाख का नुकसान

यात्रियों को कोटा रेलवे स्टेशन पहुंचने पर जानकारी मिली तो जताई आपत्ति

Danik Bhaskar | Dec 10, 2017, 06:54 AM IST

कोटा. कोटा से निजामुद्‌दीन के बीच चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस के दो दिन में चार ट्रिप व कोटा-कटरा ट्रेन के आने जाने के ट्रिप ऐनवक्त पर रद्‌द होने से यात्री परेशान होते रहे। रेलवे को इन दोनों ट्रेनों के रद्‌द होने से 34 लाख रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है। 9 दिसंबर को आखिरी क्षणों में जनशताब्दी एक्सप्रेस के रद्‌द होने की घोषणा होने से पहले कई यात्री स्टेशन पहुंच गए थे। कर्मचारियों ने जब ट्रेन रद्‌द होने का कारण नॉन इंटरलॉकिंग कार्य होना बताया, तो यात्रियों ने ट्रेन को रद्द करने की सूचना पहले नहीं देने पर आपत्ति की। 20 कोच की इस ट्रेन में लगभग 1800 यात्री यात्रा करने वाले थे। इनमें से लगभग 750 यात्री मथुरा जाने वाले थे। ये ट्रेन 10 दिसंबर को भी रद्द रहेगी। कोटा-कटरा ट्रेन को भी 9 दिसंबर को रद्द किया गया है।

जनशताब्दी : 20 लाख से अधिक का नुकसान
तुगलकाबाद से पलवल के बीच नॉन इंटरलॉकिंग काम के कारण जनशताब्दी एक्सप्रेस का 9 व 10 दिसंबर का आने-जाने का ट्रिप रद्‌द किया गया है। ट्रेन के एक ट्रिप में लगभग 1800 यात्री यात्रा करते हैं। वापसी में भी लगभग इतने ही यात्री आते हैं। रेलवे को लगभग 20 लाख का नुकसान होगा।

कोटा-कटरा ट्रेन : 14 लाख से अधिक का नुकसान

ट्रेन के आने-जाने के दो ट्रिप रद्द होने से रेलवे को 14 लाख का नुकसान होगा। इस ट्रेन में 18 कोच लगे होते हैं। लगभग 1100 यात्री एक ट्रिप में यात्रा करते हैं। आने-जाने वाले ट्रिप में लगभग 2200 यात्री यात्रा नहीं कर सकेंगे। रेलवे को 14 लाख से अधिक का नुकसान होगा।

ट्रेन रद्द होने की सूचना कोटा रेल मंडल को शुक्रवार शाम को मिली थी। उसे तुरंत जारी किया गया। सूचना मिलने पर जिन यात्रियों के मोबाइल नंबर आरक्षण फार्म में लिखे थे। इंटरनेट से टिकट बने थे उनके मोबाइल पर ट्रेन रद्द की सूचना दी गई।

-विजय प्रकाश, सीनियर डीसीएम