--Advertisement--

सांसद बोले- मनमर्जी कर रहे सीनियर IAS, हमें नहीं बताते प्लानिंग

स्मार्ट सिटी के कार्यों से नाराज हैं सांसद ओम बिरला, दिल्ली में केंद्रीय मंत्री से की शिकायत

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 07:50 AM IST

कोटा. स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के कार्यों को लेकर सांसद ओम बिरला ने असंतोष जताते हुए यह मामला केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी के सामने उठाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रमुख शासन सचिव मंजीत सिंह मनमाने तरीके से काम कर रहे हैं, जिससे योजना का लाभ शहर को नहीं मिल रहा। इससे पहले भी बिरला ने मंजीत सिंह को पत्र लिखकर कहा था कि स्मार्ट सिटी में होने वाले कार्यों की जानकारी उन्हें नहीं दी जाती।


- बिरला ने कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए बनी कमेटी में चेयरमैन प्रमुख शासन सचिव मंजीत सिंह को बनाया गया है। वे कभी-कभी कोटा आते हैं और बैठक लेकर दिशा निर्देश देकर चले जाते हैं। उनकी इस कार्यप्रणाली से सांसद बिरला खफा हैं।

- उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से मिलकर इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्रमुख शासन सचिव के कारण इस योजना का पूरा लाभ कोटा शहर को नहीं मिल पा रहा है। मुझे या इसमें शामिल 2 उपाध्यक्षों को तक को योजनाओं की जानकारी नहीं दी जाती। 3 माह में एक बार बैठक करके अपनी मर्जी से आदेश जारी कर दिए जाते हैं। योजना की जो गति होनी चाहिए थी वह नहीं है। कोई भी काम प्लानिंग से नहीं हो रहा।

चारों शहरों के लिए हों अलग चेयरमैन

- बिरला ने मंत्री से कहा कि चारों शहरों में अलग-अलग बोर्ड बनाकर उसका चेयरमैन भी अलग होना चाहिए। एक ही चेयरमैन चारों शहरों को देख रहा है, जो पूरा समय नहीं दे पाता, इससे समय पर योजनाएं नहीं बन रही।

- मंत्री ने उनसे कहा कि इस मामले में वे पूरी रिपोर्ट लेकर कार्रवाई करेंगे। स्मार्ट सिटी की योजनाएं समय पर शुरू हों, उसका पैसा खर्च हो इसके लिए संबंधित अधिकारियों को पाबंद किया जाएगा।

बिरला क्यों नाराज हैं, पता नहीं : सिंह

मैं तो बेहतर काम कर रहा हूं, पूर्व में सांसद बिरला का पत्र आया था कि सूचना नहीं देते, उस पर सूचना भिजवा दी गई है। कोटा में स्मार्ट सिटी का काम काफी तेजी से चल रहा है। अभी बोर्ड की बैठक में 735 करोड़ के कार्यों को स्वीकृति देकर उनमें तेजी लाने को कहा है। कलेक्टर स्वयं उनकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सांसद क्यों नाराज हैं इस बारे में उनसे बात करेंगे। पूरी रिपोर्ट बताएंगे।
-मंजीत सिंह, प्रमुख शासन सचिव