Home | Rajasthan | Kota | last date for JEE Mains exams

JEE MAINS की लास्ट डेट निकली, सीईजी ने नहीं निकाला नोटिफिकेशन

अब स्टेट लेवल कमेटी तय करेगी इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन की प्रक्रिया

Bhaskar News| Last Modified - Jan 02, 2018, 05:37 AM IST

last date for JEE Mains exams
JEE MAINS की लास्ट डेट निकली, सीईजी ने नहीं निकाला नोटिफिकेशन

कोटा. जेईई मेन्स की आखिरी तारीख निकलने के बाद अब इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिले की प्रक्रिया अब सेंटर फॉर इलेक्ट्रॉनिक गवर्नेंस (सीईजी) की स्टेट लेवल कमेटी तय करेगी। पिछले साल इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन राजस्थान इंजीनियरिंग एडमिशन प्रोसेस के जरिए हुआ था। इसकी जिम्मेदारी आरटीयू को दी गई थी। 


इसमें जेईई मेन्स और 12वीं के अंकों के आधार पर एडमिशन दिया गया था। खास बात यह है कि मेन्स के आवेदन की आखिरी तारीख से पहले आरटीयू ने नोटिफिकेशन जारी करके बच्चों को मेन्स का एग्जाम देने की सलाह दी थी। सोमवार को मेन्स के आवेदन भरने की आखिरी तारीख थी। अब तक मेन्स के लिए सीईजी  ने कोई नोटिफिकेशन नहीं निकाला है। ऐसे में एडमिशन प्रक्रिया में बदलाव की संभावना है। वहीं, जेईई मेन्स की फाॅर्म  फिलिंग प्रक्रिया सोमवार रात 12 बजे समाप्त हो गई। रात तक करीब 11.70 लाख स्टूडेंट्स ने फाॅर्म  भरा था। 

 

ऐसे पड़ेगा असर

 

 अब अगर सीईजी  मेन्स के अंकों पर एडमिशन को वरीयता देता है तो उन बच्चों पर असर पड़ेगा, जिन्होंने नोटिफिकेशन जारी नहीं होने के कारण मेन्स का फाॅर्म नहीं भरा। वहीं, जो बच्चे एनआईटी के मकसद से मेन्स में बैठे और उनको एनआईटी नहीं मिली तो आसानी से राजस्थान का इंजीनियरिंग कॉलेज मिल जाएगा। अब यह सीईजी  पर निर्भर करता है कि वह क्या निर्णय करती है। जल्द ही इस संबंध में स्टेट लेवल कमेटी की मीटिंग होने वाली है।

 

 

यह गलती रही

सीईजी  ने 10 दिन पहले ही आरटीयू से पिछले साल के एडमिशन प्रोसेस की जानकारी ली थी। सीईजी  का प्रतिनिधिमंडल आरटीयू आया था। यहां बताया गया कि पिछले साल जेईई मेन्स का स्कोर व 12वीं के अंकों के आधार पर एडमिशन दिया था। वह भी मेन्स के अंकों के आधार पर सीटें खाली रहने पर 12वीं के अंकों की गणना की गई थी। अगर सीईजी  की मीटिंग पहले हो जाती तो मेन्स की आखिरी तारीख निकलने से पहले ही नोटिफिकेशन जारी करके बच्चों को मेन्स में बैठने की सलाह दे दी जाती।

 

 

 अभी स्टेट लेवल कमेटी में एडमिशन के संबंध में चर्चा की जाएगी। मेन्स का एग्जाम अधिकांश स्टूडेंट्स देते हैं। आखिरी तारीख निकल गई है तो विकल्प भी देखा जाएगा। आरटीयू से एडमिशन के संबंध में चर्चा हुई थी।
डॉ. अविनाश पंवार, डायरेक्टर, सीईजी

 

 

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now