--Advertisement--

दिव्यांग पर पैंथर का हमला, बड़े भाई ने गोपण से पत्थर मारा तो भाग खड़ा हुआ

पंचायत के हेमपुरा गांव में सोमवार शाम 7.30 बजे दिव्यांग हीरालाल पर पैंथर ने हमला कर दिया।

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 07:25 AM IST

रावतभाटा। खुले में शौच करने गए मंडेसरा पंचायत के हेमपुरा गांव में सोमवार शाम 7.30 बजे दिव्यांग हीरालाल पर पैंथर ने हमला कर दिया। पैंथर ने जब हमला किया तो दिव्यांग ने संघर्ष किया। उसके चेहरे पर पंजे के निशान मारे और पैरों को भी चबा लिया। दिव्यांग ने शोर मचाया तो बड़ा भाई सूरजमल दौड़कर आया और उसने गोपण से पत्थर मारकर पेंथर को चोट पहुंचाई।


गोपण से फेंके पत्थर से गंभीर चोट खाकर पेंथर जंगल की ओर भाग गया। रावतभाटा रैफरल अस्पताल में 108 एम्बुलेंस को सूचित किया गया। जिस पर चालक, परिचालक रात 9.15 बजे रैफरल अस्पताल रावतभाटा लेकर आए।

प्रभारी डॉ. अनिल जाटव ने बताया कि पेंथर से घायल हीरालाल का इलाज किया जा रहा है। जरूरी हुआ तो कोटा रैफर किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि हेमपुरा गांव भैंसरोडगढ़ वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र में है। यहां पिछले दिनों 3 पेंथर परिवार की पुष्टि हुई थी। कैमरे में भी कैद हुए थे।
हेमपुरा में पैंथर से हमले से घायल हुए दिव्यांग हीरा लाल भील से पहले बैल पर हमले की घटना हो चुकी है। वन अधिकारी अनुराग भटनागर के अनुसार बैल मालिक को इसका मुआवजा भी दिया जा रहा है । वन अधिकारी के अनुसार मनुष्य पर क्षेत्र में पैंथर से हमले की यह पहली घटना है। वह इस मामले की जांच कराएंगे कि हमला पैंथर ने किया है या फिर किसी और वन्यजीव ने। यदि पैंथर ने हमला किया है तो इसका मुआवजा भी दिया जाएगा। उधर, वन अधिकारी के अनुसार 7 साल पहले ऐसे ही एक पैंथर नजर आया था और वह पेड़ पर शिकारियों के जाल के साथ में फंस गया था। बाद में बेहोश कर वन क्षेत्र में छोड़ा गया था।