--Advertisement--

लूट के बाद कस्टमर्स को Gold के बराबर मूल्य का सोना देगी कंपनी

गोल्ड लोन कंपनी के अफसरों ने भी की जांच

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 03:47 AM IST

कोटा. नयापुरा स्थित मणप्पुरम फाइनेंस की शाखा के बाहर मंगलवार को पूरे दिन ग्राहकों का मेला लगा रहा। हालांकि लोगों को तसल्ली देने के लिए कंपनी के दो कर्मचारी नीचे ही खड़े हुए थे, जो बता रहे थे कि आपका सोना पूरी तरह सुरक्षित है। इन कर्मचारियों ने ग्राहकों के मोबाइल नंबर व नाम भी नोट किए और भरोसा दिया कि वे खुद कॉल करके उन्हें बुलाएंगे। एहतियात के तौर पर पूरे दिन इस इलाके में पुलिस की खास गश्त रही। आसपास के प्वांइट्स पर पुलिस ने हथियारबंद जवान भी तैनात किए हुए थे। इस ब्रांच से करीब 1500 ग्राहक जुड़े हैं जिनका सोना यहां रखा हुआ था।


- उधर, केरल के त्रिशूर में स्थित कंपनी के हैड ऑफिस ने मंगलवार को कोटा में हुई घटना को लेकर एक ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी किया।

- इसमें कहा है कि उपभोक्ताओं के हितों तथा उनके आभूषणों की रक्षा करना हमारी पहली प्राथमिकता है। हम इस बात की पुष्टि करते हैं कि शाखा कार्यालय में रखे गए स्वर्ण आभूषण पूर्णतया बीमित हैं और ग्राहकों को किसी भी प्रकार का आर्थिक नुकसान नहीं होगा।

- कंपनी के नयापुरा कोटा ब्रांच कार्यालय पर हथियारबंद लुटेरों ने हमला किया तथा सुरक्षाकर्मी तथा कार्यरत अन्य कर्मचारियों को बंधक बनाकर सोना लूट लिया।

- कंपनी ने तत्परता दिखाते हुए पुलिस को न सिर्फ सूचना दी बल्कि उसे सारी सूचनाएं और सीसीटीवी के फुटेज भी उपलब्ध कराए। कंपनी सुरक्षाकर्मियों के समूह तथा इलेक्ट्रॉनिक सिक्योरिटी का उपयोग करती है ताकि ग्राहकों के सोने की पूरी तरह सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

अहमदाबाद, जयपुर व केरल स्थित हैड ऑफिस से आई टीमों ने जुटाए तथ्य
- वारदात के बाद सोमवार रात व मंगलवार सुबह मणप्पुरम फाइनेंस के जयपुर तथा केरल स्थित मुख्यालय से उच्चाधिकारी कोटा पहुंच गए।

- वहीं, अहमदाबाद से उस सिक्योरिटी एजेंसी के अधिकारी भी कोटा आ गए, जो पूरे देश में कंपनी को सुरक्षाकर्मी मुहैया कराती है। इन अधिकारियों ने पूरे दिन ब्रांच में वारदात को लेकर पड़ताल की।

रैकी करने आए बदमाश ने खुद को बताया था छात्र

- सोमवार को घटना से पहले रैकी करने आए बदमाश ने बाहर बैठे गार्ड को अपना नाम रवि बताया था। उसने यह भी कहा कि मानपुर का रहने वाला हूं और कोटा में पढ़ता हूं।

- गार्ड रंगपुर निवासी बबलू गुर्जर ने उसका बताया गया नाम व मोबाइल नंबर भी रजिस्टर में दर्ज किया। पुलिस ने जब मोबाइल नंबरों के बारे में पता किया तो वे फर्जी निकले। उनकी लोकेशन बिहार की ही आई।

- डीएसपी शिव भगवान गोदारा ने बताया कि रवि नाम बताते हुए आए बदमाश ने कहा था कि वह कॉमर्स कॉलेज में पढ़ रहा है और अन्य परीक्षाओं की तैयारी भी कर रहा है।