Hindi News »Rajasthan »Kota» Master Mind Of Demonetisation Ajay Bokil Speech

नोटबंदी के मास्टर माइंड बोकिल ने कहा- 50 रु. से बड़े सभी नोट बंद हों

कार्यक्रम: नोटबंदी व जीएसटी पर सेमिनार, विशेषज्ञ बोले-सभी 57 प्रकार के टैक्स करने होंगे खत्म

Bhaskar News | Last Modified - Dec 27, 2017, 07:01 AM IST

  • नोटबंदी के मास्टर माइंड बोकिल ने कहा- 50 रु. से बड़े सभी नोट बंद हों
    +1और स्लाइड देखें

    कोटा. केंद्र सरकार को नोटबंदी का फायदा उठाना है तो सबसे पहले इनकम टैक्स, जीएसटी सहित सभी 57 प्रकार के टैक्स को खत्म करना होगा। उसके स्थान पर बैंकिंग ट्रांजेक्शन टैक्स (बीटीटी) लागू करना होगा। यह बात मंगलवार को दी एसएसआई एसोसिएशन की ओर से पुरुषार्थ भवन में नोटबंदी और जीएसटी विषय पर हुए ओपन डिस्कशन सेमिनार में अनिल बोकिल ने कही है।

    - नोटबंदी के मास्टर माइंड व मैकेनिकल इंजीनियर बोकिल ने सेमिनार में बताया कि टैक्स प्रणाली को आसान बनाने के लिए सभी करों को समाप्त करने के बाद बीटीटी लागू करने पर बैंक ट्रांजेक्शन पर दो फीसदी टैक्स लगाने से केंद्र सरकार को 21 लाख करोड़ रुपए कर के रूप में मिलेंगे, जो कि मौजूदा समय में मिल रहे कर से कई गुना ज्यादा होगा।

    - उन्होंने कहा कि इसके लिए केंद्र सरकार को 50 रुपए से ज्यादा 200, 500, 2000 रुपए के नोटों पर प्रतिबंध लगाना होगा। 2 फीसदी बीटीटी लगाने के लिए नकद लेनदेन पूर्ण रूप से बंद करना होगा।

    - उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी व वित्त मंत्रालय को इस संबंध में प्रस्ताव भी दिया है। बताया कि नोटबंदी से कालाधन बाहर लाने के लिए सकारात्मक सुधार हुए हैं। उनका फायदा उठाना है तो सरकार को बीटीटी लागू करना ही होगा।

    - बीटीटी लागू करने से देश भ्रष्टाचार मुक्त के साथ-साथ आयकर विभाग से 3.50 लाख अधिकारी सहित अन्य टैक्स से संबंधित विभागों में कार्यरत करीब 33 लाख कर्मचारी कार्य मुक्त हो जाएंगे। उनसे दूसरे रूप में काम लिए जा सकेंगे।


    बड़े नोट बंद करने से होगा जीडीपी में सुधार

    - बोकिल ने बताया कि केंद्र सरकार ने 2000 रुपए के नोट की प्रिंटिंग लगभग बंद कर दी है। सरकार को 200, 500 व 2000 रुपए के नोट पर प्रतिबंध लगाना चाहिए।

    - इससे देश की जीडीपी में तीन गुना वृद्धि देखने को मिलेगी। केंद्र सरकार को नोटबंदी का कदम तीन चरणों में उठाना था। लेकिन, कालेधन को समाप्त करने के लिए मोदी सरकार ने एक साथ कदम उठा लिया। इससे न तो कालाधन बाहर आया और न ही नोटबंदी का एमएसएमई सेक्टर को कोई लाभ मिला।

    - मोदी सरकार को उन्होंने 1000 रुपए के नोट फिर इसके बाद 500 और 100 रुपए के नोट पर प्रतिबंध लगाना था।

    काम की शिफ्ट 8 से घटाकर 6 घंटे करनी होगी
    बोकिल ने कहा कि युवा पीढ़ी को ज्यादा संख्या में रोजगार देने के साथ एमएसएमई सेक्टर में उत्पादन क्षमता को ज्यादा बढ़ाने के लिए सरकार को सरकारी व प्राइवेट सेक्टर में काम की 8 घंटे की शिफ्ट को घटाकर 6 घंटे करनी चाहिए। इससे उत्पादन क्षमता बढ़ने के साथ-साथ पब्लिक सेक्टर में रोजगार के अवसर भी बढ़ जाएंगे। सभी सरकारी कार्यालय व निजी कार्यालयों में 8 घंटे का ड्यूटी समय घटाकर उसे 6 घंटे करना चाहिए। इससे कामगारों की क्रिएटिविटी निखरेगी और प्रोडक्टिविटी बढ़ेगी।

    कैशलेस इकोनॉमी का भविष्य
    बोकिल ने बताया इकोनॉमी का आगामी भविष्य कैशलेस है। वर्तमान समय में पूरी दुनिया तकनीक के दम पर खड़ी है। आने वाला समय डिजिटल इकोनॉमी का है। ऐसे में आज नहीं तो कल कैशलेस इकोनॉमी अपनानी होगी।

    उद्यमियों की जिज्ञासाओं को किया दूर
    सेमिनार में नोटबंदी व जीएसटी पर ओपन डिस्कशन हुआ। बोकिल ने उद्यमियों की जिज्ञासाओं को दूर किया। इस मौके पर एसोसिएशन के संस्थापक गोविंद राम मित्तल, अध्यक्ष प्रेम भाटिया व सचिव राजकुमार जैन समेत पूर्व महापौर डॉ. रत्ना जैन भी मौजूद थी।

  • नोटबंदी के मास्टर माइंड बोकिल ने कहा- 50 रु. से बड़े सभी नोट बंद हों
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kota News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Master Mind Of Demonetisation Ajay Bokil Speech
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×