--Advertisement--

नवनीत गैंग का शूटर भैय्या सात साल बाद गिरफ्तार, रमेश पर चलाई थी 40 गोलियां

रमेश जोशी हत्याकांड में 7 वर्ष से फरार चल रहे 5 हजार रुपए के ईनामी बदमाश भैय्या को गिरफ्तार किया है।

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 09:02 AM IST

कोटा | कोटा ग्रामीण पुलिस ने चेचट के बहुचर्चित रमेश जोशी हत्याकांड में 7 वर्ष से फरार चल रहे 5 हजार रुपए के ईनामी बदमाश भैय्या को गिरफ्तार किया है। वर्चस्व की लड़ाई के चलते चेचट के बदमाशों ने कोटा शहर के बदमाशों की मदद से रमेश पर एक-दो नहीं पूरी 40 गोलियां दाग दी थीं। यह बदमाश नवनीत गैंग का शूटर है। इस पर हत्या, हत्या का प्रयास, फिरौती, अवैध हथियारों की तस्करी समेत 6 मुकदमे दर्ज हैं।

एसपी डॉ. राजीव पचार ने बताया कि 25 अप्रैल 2011 को चेचट निवासी रमेश जोशी को फार्म हाउस पर जाते समय चेचट निवासी हिस्ट्रीशीटर नवनीत शर्मा ने अपनी गैंग के साथ मिलकर गोलियों से छलनी कर दिया था। वर्चस्व की लड़ाई के चलते उसने घटना को अंजाम दिया था। नवनीत की गैंग के सदस्य गुड्डू उर्फ जोगेंद्र सिंह, रणवीर चौधरी, शानी निवासी कोटा, अमीत नावरिया, गुड्डू उर्फ शिकारी निवासी चेचट आदि ने मिलकर रमेश जोशी को 40 गोलियां मारी थीं। गिरफ्तारी के लिए रामगंजमंडी डीएसपी रामकल्याण मीणा के नेतृत्व में सीआई अमरनाथ व एएसआई अजीत मोगा की स्पेशल टीम का गठन किया।


टेक्निकल इन्वेस्टिगेशन से पकड़ा गया बदमाश
रविवार को साइबर स्पेशलिस्ट एएसआई अजित मोगा को टेक्निकल इन्वेस्टिगेशन और मुखबिरों से सूचना मिली कि फरार बदमाश सईद उर्फ भैय्या (39) पुत्र सलीमुद्दीन निवासी चेचट झालावाड़ आ रहा है। इसके बाद चेचट सीआई अमरनाथ, कांस्टेबल हीरालाल पूनियां, भूपेन्द्र नागर, विपुल चौधरी, नरेन्द्र नागर सहित पूरी टीम ने उसकी घेराबंदी शुरू कर दी। जिसे पुलिस ने झालावाड़ में मामा-भांजा चौराहे के पास से पकड़ लिया। भैय्या ने नई दिल्ली, लखनऊ, भोपाल, उज्जैन, नेपाल में फरारी काटी है।