कोटा

--Advertisement--

आईआईटीयन लड़के की अनूठी, खरीदने के बजाय किराए पर लिए कपड़े

न कार्ड-न रिसेप्शन, शादी के बाद दूल्हा-दुल्हन ने बेटियों की शिक्षा के लिए दान किए 10 लाख रुपए, रिक्शे पर निकाली बारात

Danik Bhaskar

Jan 25, 2018, 02:09 AM IST
आईआईटीयन आयुष जैन और असिस्टें आईआईटीयन आयुष जैन और असिस्टें

कोटा. आईआईटीयन दूल्हा और असिस्टेंट फिल्म डायरेक्टर दुल्हन की शादी, लेकिन न शादी का कार्ड छपा न कोई ग्रैंड रिसेप्शन हुआ। न ही परिवारजनों ने महंगे कपड़े बनवाए। चार ढोल के साथ साइकिल रिक्शे पर बारात निकली। परिजनों ने आईआईटीयन द्वारा शुरू किए स्टार्टअप से कॉस्ट्यूम किराए पर लिए। शादी के बाद इन सभी खर्चों से बचे 10 लाख रुपए शहर के दो सरकारी बालिका स्कूल और एक जरूरतमंद बच्चों के लिए चल रहे एजुकेशन इंस्टीट्यूट को दान कर दिए। इनमें से एक रामपुरा बालिका महारानी स्कूल को 2 लाख रुपए का चेक दिया।

- पूर्व महापौर डॉ. रत्ना जैन और डॉ. अशोक जैन का बेटा आयुष मुंबई आईआईटी से पासआउट है और उसने अपनी खुद की कंपनी बना रखी है।

- दुल्हन इशिता दवे मूल रूप से अहमदाबाद की रहने वाली है और मुंबई में असिस्टेंट फिल्म डायरेक्टर है। अवॉर्डेड मूवी मिर्ज्या सहित कई फिल्मों और टीवी सीरियल को असिस्ट किया है।

- दोनों की शादी 22 जनवरी को अहमदाबाद में एक सादे समारोह में हुई। रिश्तेदारों के अलावा दूल्हा-दुल्हन के 90 दोस्त शामिल हुए।

- डॉ. रत्ना जैन ने बताया कि शादी से पहले ही दोनों परिवारों ने ये तय कर लिया था।

- उसी के मुताबिक बेटियों की शिक्षा व्यवस्था के लिए रामपुरा महारानी स्कूल को 3 लाख रुपए, नयापुरा बाग बालिका स्कूल को 3 लाख रुपए, जरूरतमंद बच्चों के लिए जनसहयोग से चलने वाली आस एकेडमी को 1 लाख और शेष 4 लाख रुपए अन्य गर्ल्स स्कूलों को दिए जाएंगे।

#जितना गिफ्ट आया, उतना खुद मिलाकर दान करेंगे

- शादी के लिए आयुष ने अपनी वेबसाइट पर लिखा था कि इस शादी में रिश्तेदारों की तरफ से जितनी भी राशि मिलेगी, उसमें उतनी ही राशि मिलाकर उसे भी बेटियों की शिक्षा के लिए दान करेंगे।

#शादी में 1 लाख रुपए आए

- अब 1 लाख और मिलाकर 2 लाख रुपए दान किए जाएंगे।

Click to listen..