Hindi News »Rajasthan »Kota» One Lakh Plants Planted In 200 Bigha Petrous Areas

200 बीघा चट्टानी क्षेत्र में लगा दिए एक लाख पौधे

नला की माता मंदिर के पास 200 बीघा चट्टानी जमीन पर लगभग 1 लाख पौधे लगा दिए।

अर्जुन अरविंद/ जितेंद्र जोशी | Last Modified - Jan 22, 2018, 09:06 AM IST

  • 200 बीघा चट्टानी क्षेत्र में लगा दिए एक लाख पौधे
    +1और स्लाइड देखें

    कोटा| डाबी में 10 साल पहले तक औसत बारिश होती थी। पूरे इलाके की जमीन इतनी पथरीली थी कि वाटर लेवल लगभग 500 फीट पर था। इसके चलते इलाके के पत्थर व्यवसायियों ने स्थिति बदलने की ठानी। नला की माता मंदिर के पास 200 बीघा चट्टानी जमीन पर लगभग 1 लाख पौधे लगा दिए। इसका असर ये हुआ कि 214 एमएम ज्यादा बारिश होने लगी।


    देखरेख पर खर्च होते हैं 30 लाख
    विश्वनाथ शर्मा बताते हैं कि हर साल पौधे रोपने और उनकी देखरेख पर साल में 30 लाख रुपए खर्च होते हैं। सुरेश बैरागी ने बताया कि पौधे लगाने का निर्णय लिया तो सबसे बड़ी समस्या ये थी कि इन चट्टानों पर घास का तिनका तक नहीं उगता। इसलिए 4 से 5 फीट मिट्टी और खदानों का मलबा बिछाया जिसके ऊपर पौधे रोपे। सिंचाई के लिए दो पानी के टैंकर व एक चौकीदार लगाया।
    भास्कर एक्सपर्ट : प्लांटेशन से 30% बढ़ती है बारिश
    जहां प्लांटेशन किया। वहां भवानीपुरा की पहाड़ी है। पहाड़ी क्षेत्र में प्लांटेशन से आर्द्रता ज्यादा होती हैं। इससे बादलों में संघनन क्रिया जल्दी और अधिक होती है। इससे बारिश 30 फीसदी ज्यादा होती है। प्लांटेशन जितना बढ़ेगा, बारिश का आंकड़ा बढ़ता जाएगा। -डॉ. एमजेड खान, भूगोल लेक्चरर

    यूं बढ़ा बरसात का आंकड़ा
    साल बारिश
    2007 708
    2008 534
    2009 441
    2010 447
    2011 931
    2012 591
    2013 737
    2014 700
    2015 828
    2016 1004
    बारिश एमएम में
    पहले ऐसे पत्थर थे। नला माता मंदिर के पास जिन पर घास तक नहीं उगती थी।

  • 200 बीघा चट्टानी क्षेत्र में लगा दिए एक लाख पौधे
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kota News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: One Lakh Plants Planted In 200 Bigha Petrous Areas
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×