--Advertisement--

IIT एडमिशन में दो साल बाद राजस्थान का फिर दबदबा, यूपी को पछाड़कर बना नंबर-1

आईआईटी ने साल 2016 की जेईई एडवांस की रिपोर्ट जारी की, 2014 में भी पहले पायदान पर रहा था राजस्थान

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 05:35 AM IST
आईआईटी ने साल 2016 की जेईई एडवांस की रिपोर्ट जारी की। - फाइल आईआईटी ने साल 2016 की जेईई एडवांस की रिपोर्ट जारी की। - फाइल

कोटा. साल 2014 के बाद राजस्थान ने 2016 में फिर से आईआईटी की सबसे अधिक सीटों पर कब्जा जमाया है। पिछले साल यूपी आगे निकल गया था। इस साल आईआईटी के एडमिशन में यूपी को पटखनी देते हुए राजस्थान के स्टूडेंट्स एडमिशन और क्वालीफाई करने के आंकड़े में काफी आगे हैं। आईआईटी ने साल 2016 की जेईई एडवांस की रिपोर्ट जारी की है।

- पिछले साल आईआईटी गुवाहटी ने एडवांस का एग्जाम कंडक्ट करवाया था। राजस्थान पहले, यूपी दूसरे, महाराष्ट्र तीसरे, तेलंगाना चौथे और आंध्रप्रदेश पांचवें स्थान पर रहा।

- मध्यप्रदेश के स्टूडेंट्स आईआईटी ड्रीम को पूरा करने में छठे नंबर पर रहे हैं। आईआईटी में दाखिले की सक्सेस रेट में हर साल की तरह इस साल भी सीबीएसई के स्टूडेंट्स पहले नंबर पर रहे हैं।

- इसके बाद तेलंगाना बोर्ड और तीसरे नंबर पर राजस्थान बोर्ड है। चौथे नंबर पर आंध्रप्रदेश का बोर्ड रहा है। आईआईटी यह रिपोर्ट एडमिशन प्रक्रिया पूरी होने और डेटा कलेक्शन के बाद जारी करता है।
- राजस्थान का सीधा मुकाबला तेलंगाना और आंध्र के साथ होता है। साल 2014 में आंध्र व तेलंगाना एक होने के बावजूद राजस्थान ने उनको पीछे छोड़ दिया था।

छग से 117, गुजरात से 205 का प्रवेश
- छत्तीसगढ़ से एडवांस के लिए 2209 स्टूडेंट्स का रजिस्ट्रेशन हुआ था। इसमें से 453 क्वालीफाइड हुए और 117 स्टूडेंट्स ने आईआईटी में एडमिशन लिया।

- गुजरात से 6295 स्टूडेंट्स रजिस्टर्ड हुए। 1035 ने क्वालीफाई किया और 205 को एडमिशन मिल पाया।

2014 में भी पहले पायदान पर रहा था राजस्थान। -फाइल 2014 में भी पहले पायदान पर रहा था राजस्थान। -फाइल