• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • नयापुरा थाने के बगल तोड़े 10 ताले, चोर फरियादी से कर रहा बातें, पुलिस नहीं लगा पा रही सुराग
--Advertisement--

नयापुरा थाने के बगल तोड़े 10 ताले, चोर फरियादी से कर रहा बातें, पुलिस नहीं लगा पा रही सुराग

शहर का नयापुरा थाना भगवान भरोसे चल रहा है। थाने से 160 कदम की दूरी पर सवा महीने पहले बदमाश दिनदहाड़े 27 किलो सोना लूटकर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:25 AM IST
शहर का नयापुरा थाना भगवान भरोसे चल रहा है। थाने से 160 कदम की दूरी पर सवा महीने पहले बदमाश दिनदहाड़े 27 किलो सोना लूटकर ले गए थे और शुक्रवार दोपहर उस बिल्डिंग के बगल में दिनदहाड़े फिर चोरी हो गई। दोपहर में बदमाशों ने एक के बाद एक बिल्डिंग में 10 से ज्यादा ताले तोड़े, लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लगी। इतना ही नहीं बदमाश जो मोबाइल चोरी करके ले गए हैं, उससे वो फरियादी से बातें कर रहे हैं। फरियादी जब भी मोबाइल पर कॉल करता है तो कभी महिला की आवाज आती है तो कभी किसी बालक की। वहीं, पुलिस रटा-रटाया जवाब देती है कि अभी हम जांच कर रहे हैं।

सीएसटी कम्प्यूटर इंस्टीट्यूट की संचालक विभा शर्मा ने बताया कि नयापुरा थाने के बगल में वो कंप्यूटर इंस्टीट्यूट चलाती हैं। शुक्रवार शाम करीब 7 बजे बाद उन्हें लोगों से पता चला कि संस्थान के मेन गेट का ताला टूटा हुआ है। सूचना पर जब मौके पर जाकर देखा तो पाया कि मेन गेट का शटर, ऊपर जाने के रास्ते में लगा चैनल गेट और संस्थान के कमरों के करीब 10 से ज्यादा ताले टूटे हुए थे। चोर करीब 3 हजार रुपए नकद, दो मोबाइल, हार्ड डिस्क और कंप्यूटर हार्डवेयर के अन्य सामान चुराकर ले गए। इधर, चोरों ने इसी भवन में चलने वाले निंबस फायर एंड सेफ्टी के ऑफिस में भी सेंध मारी, लेकिन उनके हाथ कुछ नहीं लगा। बदमाशों ने इस ऑफिस के ताले, अलमारियों के ताले भी तोड़े थे। बदमाश वहां एक कुल्हाड़ीनुमा हथियार छोड़ गए, जिसे पुलिस ने जब्त किया है।

चोर उठा रहे फोन, पुलिस फिर भी मौन: विभा के पति संजय वर्मा ने बताया कि चोर उनके ऑफिस से दो मोबाइल चुराकर ले गए थे। मोबाइल दूसरे दिन भी चल रहे हैं, लेकिन पुलिस बदमाशों को पकड़ने में रुचि नहीं ले रही। उन्होंने बताया कि जब उस नंबर पर फोन किया तो किसी राजू नामक व्यक्ति ने फोन उठाकर बात की। उसने बोला कि वो तो उधर से गुजर रहा था और ऊपर जाकर मोबाइल ले गया। दूसरी बार एक महिला ने फोन उठाया, जिसने कहा कि ताले तोड़कर चुरा लिया माल। इनकी रिकॉर्डिंग भी संजय ने मोबाइल में की है। लेकिन, थाने में कोई सुनवाई नहीं कर रहा है।

चोरी के बाद बिखरा सामान।

ताले और दरवाजों पर मौजूद फिंगर प्रिंट नहीं लिए पुलिस ने

इस वारदात को पुलिस बेहद हल्के में ले रही है। पुलिस ने तोड़े गए ताले जब्त करना उचित नहीं समझा। उन पर मौजूद फिंगर प्रिंट और दरवाजों पर लगे बदमाशों की उंगलियों के निशान तक पुलिस ने नहीं उठाए। पुलिसकर्मी आए मौका देखा और चले गए। संजय का आरोप है कि पुलिसकर्मी बोल रहे हैं कि यह छोटी-मोटी घटना है और कुछ गया भी नहीं तो इतनी जल्दबाजी क्यों मचा रहे हो? गौरतलब है कि इसके पहले थाने के पास स्थित बैंक में भी चोरी का प्रयास हुआ था। वहीं, एमबीएस अस्पताल के पास से 3-4 दुकानों के ताले टूटे थे।