Hindi News »Rajasthan »Kota» 22 करोड़ से जीएसएस बनकर तैयार, 25 लाख की छीजत बचेगी

22 करोड़ से जीएसएस बनकर तैयार, 25 लाख की छीजत बचेगी

नदी पार क्षेत्र व शहर की जनता को जल्द ही 24 घंटे बिजली की सौगात मिलने वाली है। इस बार गर्मी में क्षेत्र की जनता को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 03:30 AM IST

22 करोड़ से जीएसएस बनकर तैयार, 25 लाख की छीजत बचेगी
नदी पार क्षेत्र व शहर की जनता को जल्द ही 24 घंटे बिजली की सौगात मिलने वाली है। इस बार गर्मी में क्षेत्र की जनता को बार-बार ट्रिपिंग व ओवरलोडिंग के कारण बिजली जाने की शिकायत नहीं रहेगी। यहां पर 22 करोड़ रुपए की लागत से 132 केवीए का जीएसएस बनकर तैयार हो गया है, जिसका मार्च के अंतिम सप्ताह में लोकार्पण होने वाला है।

शहर में बिजली की खपत तो बढ़ रही थी, लेकिन इसके अनुरूप लाइनों व जीएसएस का विस्तार नहीं हो पा रहा था। जिससे लाइनों के ओवरलोडिंग होने, ट्रिपिंग आने तथा बार-बार ट्रांसफार्मर जल जाने की शिकायतें रहती थी। इसे दूर करने के लिए नए जीएसएस की मांग चल रही थी, इसमें नयापुरा क्षेत्र भी शामिल था, किंतु यह मांग चुनावी घोषणा पत्रों एवं कागजों से बाहर नहीं आ पा रही थी। इसके लिए विधायक प्रहलाद गुंजल ने प्रस्ताव दिया था। जमीन नगर विकास न्यास प्रशासन ने आवंटित की।

फॉल्ट पर 132 केवी जीएसएस से होगी आपूर्ति

ऊर्जा मंत्री ने दी लोकार्पण की स्वीकृति : विधायक गुंजल ने ऊर्जा मंत्री पुष्पेंद्र सिंह से भेंटकर जीएसएस के लोकार्पण में आने का न्यौता दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार कर मार्च के अंतिम सप्ताह में आने की स्वीकृति दे दी। अब इसके लोकार्पण व सभा के लिए जगह चयन का काम चल रहा है।

रिकॉर्ड समय में पूरा हुआ

एक्सईएन ओपी शर्मा ने बताया कि इस जीएसएस को रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया है। निर्माण में 22 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं, जिसमें से लगभग सात करोड़ रुपए जमीन आवंटन के लिए यूआईटी को दिए गए। शेष राशि इसके निर्माण पर लगाई गई। 22 सितंबर 2016 को इसके निर्माण की स्वीकृति जारी कर दी गई थी। इसका तकनीकी कार्य मार्च 2017 में पूरा हो गया। सिविल कार्य अंतिम चरण में है। उन्होंने बताया कि आगामी कई वर्षों तक इस क्षेत्र में अब बिजली गुल होने की समस्या नहीं रहेगी।

जीएसएस के निर्माण से लगभग 25 लाख रुपए प्रतिमाह की छीजत बचेगी। इस क्षेत्र में मोहनलाल सुखाड़िया, लैंडमार्क, सकतपुरा, हाउसिंग बोर्ड की कॉलोनियों में 33 केवी जीएसएस पूर्व में स्थापित हैं, अब यदि इनमें से कोई फॉल्ट आता है तो 132 केवी जीएसएस से आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |
Web Title: 22 करोड़ से जीएसएस बनकर तैयार, 25 लाख की छीजत बचेगी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×