• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kota
  • गलत सतर्कता आदेश मामले में स्टेशन मास्टर के बयान दर्ज
--Advertisement--

गलत सतर्कता आदेश मामले में स्टेशन मास्टर के बयान दर्ज

त्रिवेंद्रम राजधानी के संचालन के लिए गलत सतर्कता आदेश जारी करने के मामले में कोटा रेल प्रशासन की टीम ने जांच शुरू...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:35 AM IST
त्रिवेंद्रम राजधानी के संचालन के लिए गलत सतर्कता आदेश जारी करने के मामले में कोटा रेल प्रशासन की टीम ने जांच शुरू कर दी है। जांच के तहत रेलकर्मियों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। जांच कार्य पूर्ण किए जाने पर संबंधित दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

निजामुद्दीन से त्रिवेंद्रम राजधानी एक्सप्रेस बुधवार को कोटा के प्लेटफार्म पर पहुंची थी। कोटा-नागदा खंड पर आलनिया रेलवे स्टेशन के पास डाउन लाइन पर ट्रैक की मरम्मत का काम किया जा रहा था। मरम्मत कार्य में टीटीएम मशीन काम कर रही थी। मशीन के आसपास रेलवे गैंगमैन व अन्य तकनीकी कर्मचारी काम कर रहे थे। राजधानी एक्सप्रेस जब कोटा से चली तो उसके ड्राइवर को सतर्कता आदेश जारी किया गया। उसमें 30 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने के आदेश थे। लेकिन सतर्कता आदेश में लोकेशन सही अंकित नहीं होने से ड्राइवर को परेशानी हुई। ट्रेन को डाढ़ देवी व आलनियां रेलवे स्टेशन के बीच ड्राइवर ने ट्रेन को वास्तविक स्पीड से चलाया। जब कुछ ही दूरी पर कर्मचारियों को काम करते देखा तो ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाए। ट्रेन को रोका बाद में ट्रेन के ड्राइवर को आलनियां स्टेशन मास्टर को कॉशन आर्डर जारी करने की सूचना दी। मेमो दिया गया।

इसकी सूचना कोटा रेलवे कंट्रोल को दी। बाद में रेलवे अधिकारियों में हड़कंप मच गया। गलत कॉशन ऑर्डर जारी होने से ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त हो सकती थी।

ट्रेन की चपेट में रेल कर्मचारी व तकनीकी कर्मचारी आ सकते थे। इस मामले की रेलवे प्रशासन ने जांच शुरू कर दी है। जांच कमेटी ने रेलवे स्टेशन मास्टर को बयान दर्ज कर लिए हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..