कोटा

  • Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • कोटा में 34 केंद्रों पर होगी गेहूं की खरीद
--Advertisement--

कोटा में 34 केंद्रों पर होगी गेहूं की खरीद

गेहूं, चना व सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीद 15 मार्च से शुरू होगी। सांसद ओम बिरला एवं सांगोद विधायक हीरालाल नागर ने...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 04:05 AM IST
गेहूं, चना व सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीद 15 मार्च से शुरू होगी। सांसद ओम बिरला एवं सांगोद विधायक हीरालाल नागर ने समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू करने हेतु बुधवार को जयपुर में एफसीआई एवं राजफैड के अधिकारियों से मुलाकात कर खरीद को शीघ्र शुरू करवाने पर चर्चा की।

अधिकारियों के साथ बैठक के बाद सांसद बिरला एवं विधायक नागर ने बताया कि एफसीआई के द्वारा 15 मार्च से 62 केन्द्रों पर गेहूं खरीद शुरू होगी। राजफैड के माध्यम से जल्द ही सरसों व चने की खरीद भी शुरू कर दी जाएगी। स्थानीय अधिकारियों से खरीद केन्द्रों पर व्यवस्था बनाने के लिए कहा गया है।

गेहूं के लिए 25 खरीद केंद्र बनेंगे : रबी विपणन में सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना, एवं सरसों की खरीद के लिए जिले में 34 खरीद केंद्र प्रस्तावित किए गए हैं। कलेक्टर रोहित गुप्ता ने बताया कि गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए जिले में 25 खरीद केन्द्र स्थापित किए गए हैं। सरसों की उपज की खरीद के लिए 5 खरीद केन्द्र स्थापित किए गए हैं। जबकि चने की उपज की खरीद के लिए 4 खरीद केन्द्र स्थापित किए गए हैं। कलेक्टर ने बताया कि गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद राजफैड एवं भारतीय खाद्य निगम द्वारा 1735 रुपए प्रति क्विंटल के समर्थन मूल्य पर खरीद की जाएगी।

सरसों खरीद के 5 केंद्र

सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर सरसों की खरीद के लिए 5 खरीद केन्द्र स्थापित किए गए हैं। जिले में कोटा, सांगोद, रामगंजमंडी, सुल्तानपुर एवं इटावा में केन्द्र स्थापित किए गए हैं।

भरतसिंह ने धरना कैंसिल किया: पूर्व मंत्री भरतसिंह ने चना, गेहूं और सरसों के खरीद केंद्र शुरू करने की मांग को लेकर धुलंडी पर सुबह 10 से 12 कलेक्टर निवास के सामने धरने की घोषणा की थी। इसमें उन्होंने सरकार को किसान विरोधी बताया था। उन्होंने निगम के अधिकारी राकेश व्यास के मामले पर भी सरकार को घेरा। लेकिन, जब सरकार ने खरीद केंद्र शुरू करने की घोषणा कर दी तो भरत सिंह ने भास्कर को बताया कि उनका मकसद किसानों को फायदा पहुंचाना था। लेकिन सरकार को गेहूं के साथ सरसों व चने की भी खरीद उन्हीं केंद्र पर करनी चाहिए।

Click to listen..