• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • कोटा में हथियारों का रिटेल मार्केट बनाना चाहता था समीर
--Advertisement--

कोटा में हथियारों का रिटेल मार्केट बनाना चाहता था समीर

गुमानपुरा थाने का हिस्ट्रीशीटर समीर उर्फ महेंद्र कोटा में हथियारों का रिटेल मार्केट डवलप करना चाहता था। वो यह...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:05 AM IST
गुमानपुरा थाने का हिस्ट्रीशीटर समीर उर्फ महेंद्र कोटा में हथियारों का रिटेल मार्केट डवलप करना चाहता था। वो यह हथियार खरगोन के पहाड़ी इलाके पनवाड़ी के सिकलीगर से लेकर आया था। इन हथियारों को कोटा में अलग-अलग 10 से लेकर 25 हजार रुपए तक में बेचने का टारगेट रखा था, जिसमें उसे हर हथियार पर करीब 3 से 5 हजार रुपए का मुनाफा होता। समीर की इस खतरनाक योजना को एटीएस और पुलिस ने मिलकर फेल कर दिया।

पुलिस पूछताछ में समीर ने बुधवार को यह कबूल किया तो पुलिस के भी होश उड़ गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि समीर कोटा के अलावा बाहर भी हथियार बेचने का काम करने वाला था। यह पहली बार कोटा में हथियार लाया था अथवा पहले भी कभी लाया था? इस दिशा में पुलिस जांच चल रही है। सीगलीगर से डायरेक्ट हथियारों की खरीद की है अथवा उसे वहां किसी सप्लायर/दलाल ने हथियार खरीदकर दिए हैं? इस दिशा में जांच करने के लिए पुलिस टीमों ने काम शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि मंगलवार रात को एटीएस कोटा यूनिट व अनंतपुरा थाने की संयुक्त टीम ने मिलकर मुखबिरों की सूचना पर नाकाबंदी करके एक कार से 8 पिस्टल, 5 देसी कट्टे व 4 अतिरिक्त मैग्जीन बरामद की थी। कार को जब्त कर उसमें सवार गुमानपुरा थाने के हिस्ट्रीशीटर समीर मेघवाल (26) व उसके साले कंसुआ निवासी गौरव कश्यप को गिरफ्तार किया था।

10 से 25 हजार रुपए में बेचने थे हथियार

हथियार कोटा में और कोटा के बाहर दोनों जगहों पर बेचने थे। अलग-अलग हथियार 10, 12, 20 और 25 हजार रुपए में बिकने वाले थे। बदमाशों की इस प्लानिंग को पुलिस ने फेल कर दिया। मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया हैं।

-समीर कुमार, एएसपी कोटा सिटी