• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • किसान संयुक्त संघर्ष समिति 3 अप्रैल से शुरू करेगी आंदोलन, 5 को मंडी बंद रखेंगे
--Advertisement--

किसान संयुक्त संघर्ष समिति 3 अप्रैल से शुरू करेगी आंदोलन, 5 को मंडी बंद रखेंगे

किसान संयुक्त संघर्ष समन्वय समिति शनिवार को सरकार को चेतावनी दी है। बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत लहसुन की दो...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:55 AM IST
किसान संयुक्त संघर्ष समन्वय समिति शनिवार को सरकार को चेतावनी दी है। बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत लहसुन की दो क्वालिटी में खरीदे। टॉप क्वालिटी का भाव 5000 रुपए मीडियम क्वालिटी को 3500 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से खरीदे। मप्र की तर्ज पर प्रोत्साहन राशि देते हुए 2000 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से खरीदें। यह जानकारी समिति के पदाधिकारी दुलीचंद बोरदा, फतेहचंद बागला व अब्दुल हमीद गौड़ ने प्रेसवार्ता में दी। समिति ने कहा कि 2 अप्रैल तक उक्त मांगों पर सरकार ने विचार नहीं करने पर 3 अप्रैल को समिति पदाधिकारी, सदस्य व विभिन्न किसान संगठनों कलेक्ट्रेट पर क्रमिक अनशन पर बैठते हुए आंदोलन शुरु करेगी। वहीं 5 अप्रैल को समिति कोटा संभाग की कृषि उपज व गौण मंडियों को एक दिन के लिए ठप करेगी। समिति ने कहा गेहूं खरीद के लिए भामाशाहमंडी को अन्य जिलों के किसानों के लिए ओपन करने की मांग की। ताकि दूसरे जिलों से आने वाले किसान समर्थन मूल्य पर अपना गेहूं बेच सके। वह समिति ने सरकार से चना व सरसों जिंस की समर्थन मूल्य पर निर्धारित तुलाई की सीमा को समाप्त करने की मांग की। इस मौके पर किसान प्रतिनिधि नंदकिशोर शर्मा, बलदेव सिंह फौजी, सुरेश गुर्जर, कालूलाल मीणा, कन्हैयालाल जैन, चतुर्भुज पहाड़िया मौजूद रहे। संयुक्त संघर्ष समिति के आंदोलन में सर्वोदय किसान मण्डल, अखिल भारतीय किसान सभा, हाड़ौती किसान यूनियन, किसान महापंचायत, राजस्थान किसान महासभा, हाड़ौती किसान आंदोलन, हाड़ौती किसान संघर्ष समिति, अखिल भारतीय किसान फैडरेशन आदि किसान संगठन शामिल हैं।

बाजार हस्तक्षेप योजना में लहसुन खरीदने सहित उठाएंगे कई मांग

चर्चा करते किसान पदाधिकारी।