कोटा

  • Hindi News
  • Rajasthan
  • Kota
  • मौत के बाद भी अपने काम से जिंदा रहता है इंसान
--Advertisement--

मौत के बाद भी अपने काम से जिंदा रहता है इंसान

कोटा| ईसाले सवाब का जलसा तुफैल अहमद की याद में लोको कॉलोनी माला फाटक पर हुआ। जलसे में राज्य भर से उलेमाओं, दरगाह...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 05:05 AM IST
मौत के बाद भी अपने काम से जिंदा रहता है इंसान
कोटा| ईसाले सवाब का जलसा तुफैल अहमद की याद में लोको कॉलोनी माला फाटक पर हुआ। जलसे में राज्य भर से उलेमाओं, दरगाह अजमेर शरीफ के गद्दीनशीन, बुद्धिजीवियों, राजनीतिक संगठनों के पदाधिकारियों व रेलवे अधिकारियों ने शिरकत की। जलसे के मुख्य अतिथि मुफ्ती शेर मोहम्मद, मौलाना सैय्यद मोहम्मद अहमद जीलानी बाबा, काजी निसार अहमद अध्यक्ष राजस्थान काजी काउंसिल जयपुर, मौलाना सैय्यद मुमताज रब्बानी, शाहिर नंबर, डॉ. सैय्यद महफूज रहमान, अजीजुल्लाह खान, अमीन पठान चेयरमैन राजस्थान हज कमेटी विशिष्ट अतिथि रहे।

जलसे की अध्यक्षता मौलाना फज्ले हक ने की। मुफ्ती शेर मोहम्मद ने कहा कि जो लोग मानवता की भलाई करते हैं, मौत के बाद भी वो काम इबादत बन कर इंसान की नेकी को जिंदा रखता है।

X
मौत के बाद भी अपने काम से जिंदा रहता है इंसान
Click to listen..