Hindi News »Rajasthan »Kota» मैस से फैली गंदगी और आवारा पशुओं से परेशान हैं वार्ड 27 के लोग

मैस से फैली गंदगी और आवारा पशुओं से परेशान हैं वार्ड 27 के लोग

पारिजात कॉलोनी और महावीर कॉलोनी फर्स्ट क्षेत्र में मैस के कारण होने वाले गंदगी और वार्ड 27 के अन्य क्षेत्रों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:05 AM IST

मैस से फैली गंदगी और आवारा पशुओं से परेशान हैं वार्ड 27 के लोग
पारिजात कॉलोनी और महावीर कॉलोनी फर्स्ट क्षेत्र में मैस के कारण होने वाले गंदगी और वार्ड 27 के अन्य क्षेत्रों में साफ-सफाई अच्छी नहीं होने से स्थानीय लोग असंतुष्ट हैं। दैनिक भास्कर की आेर से रविवार को वार्ड 27 में रूबरू पाेरवाल समाज भवन में हुआ। यहां पर युवा से लेकर उम्रदराज के साथ महिलाएं भी अपनी पीड़ा बताने के लिए पहुंचीं।

इस वार्ड में भी कचरा परिवहन की समस्या है। टिपर समय पर नहीं आने और नहीं रुकने की समस्या लोगों ने व्यक्त की। वहीं, पार्कों की दुर्दशा और पानी नहीं आने से लोग परेशान हैं। कार्यक्रम में नगर निगम महापौर महेश विजय, स्थानीय पार्षद बृजमोहन गौड़, पार्षद प्रकाश सैनी, देवेंद्र चौधरी मामा भी मौजूद रहे।

ये बोले महापौर

नगर निगम महापौर महेश विजय ने कहा कि अप्रैल में ही आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए सघन अभियान चलाया जाएगा। कचरा परिवहन करने वाली गाड़ियों को लेकर लगातार फीडबैक पूरे शहर से आ रहे हैं। जनता सही है। अप्रैल अंत तक निगम की कोशिश रहेगी कि कचरा परिवहन की समस्या को पूरी तरीके से दूर कर ली जाए, ताकि लोगों को दिक्कत नहीं आए। वार्ड 27 नया वार्ड है।

वार्ड में 34 करोड़ के काम हुए : पार्षद बृजमोहन गौड़ ने बताया कि उनके वार्ड में यूआईटी व नगर निगम से मिलकर करीब 34 करोड़ के 37 काम कार्य करवाए गए हैं। इसमें सबसे अधिक ट्रांसपोर्ट नगर में 2 करोड़ 8 लाख रुपए की सड़कें बनाई गई है। इसके अलावा पार्कों का विकास, नालों की मरम्मत, इंटरलाकिंग, नालों का निर्माण, डिस्पेंसरी का निर्माण, दीनदयालनगर में सीसी, श्मशान सहित अन्य काम शामिल हैं। 11 करोड़़ रुपए के विकास काम स्वीकृति प्रक्रिया में है।

रूबरू मंे समस्या बताते लोग।

वार्ड 27 की जनता बोली; कचरा निस्तारण की व्यवस्था में है खामी, टिपर भी समय पर नहीं आते

यूआईटी पार्क के विकास पर ध्यान नहीं दे रही है। ठेकेदार की शिकायत करने के बावजूद कोई एक्शन नहीं लिया जाता। -केपी सिंह

खाली प्लाॅटों के कारण कचरा जमा है, जिससे गंदगी फैलती है। इस कारण बीमारियों की आशंका बनी रहती है। घरों के ऊपर से हाईटेंशन लाइन जा रही है। -राघव आचार्य

शादी समारोह के लिए क्षेत्र में कोई सामुदायिक भवन ही नहीं है। किसी भी एजेंसी के जरिए सामुदायिक भवन बनना चाहिए। -महेंद्र तंवर

सफाई सबसे बड़ी समस्या है। आठ-दस दिन में एक बार पानी की सप्लाई होती है। आवारा मवेशी खुले में घूमते हैं। दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। -राकेश कुमार

लंबे समय से पानी की समस्या बनी हुई है। घर के पीछे की लाइन में पाइपलाइन डाल डालकर काम वहीं खत्म कर दिया। -मुकेश खंडेलवाल

बाबा रामदेव के मंदिर में अभी भी काफी काम होना बाकी है। जल्द से उसका काम हो जाएगा तो सभी लोगों को लाभ मिलेगा। -गोविंदराम

गंदगी और अतिक्रमण ही सबसे बड़ी समस्या है। पार्षद काम करवाता है। कुछ अधिकार पार्षद के पास नहीं होते। पार्षद को और अधिकार देने चाहिए। -परमानंद

सुभाषनगर योजना में पानी भरता है। इस कारण क्षेत्र में मच्छर पनपते हैं। बीमारियां फैलने की भी आशंका रहती है। -पदम कुमार

नलों में गंदा पानी आता है। उसको पी भी नहीं सकते। पेयजल सप्लाई का समय भी बहुत ही कम निर्धारित कर रखा है। -मुरलीधर यादव

मेन रोड की एंट्रेंस पर अतिक्रमण हो रहा है। उसको भी हटाया जाए। 20-20 फीट के अतिक्रमण कर रखे। वहां से निकलना मुश्किल हो जाता है। -सतीश आनंद

रोड पर गड्ढे हो रहे हैं। सफाईकर्मी सफाई के पैसे वसूलते हैं। पैसे नहीं देने पर सफाई नहीं करते। निगम ध्यान नहीं दे रहा है। -राकेश गौतम

सुबह घूमने जाते हैं तो सड़क पर फैले हुए कचरे की दुर्गंध से परेशान हो जाते हैं। सड़कें टूटी हुई हैं। कोई ध्यान नहीं दे रहा है। -एनके गंभीर

घर के बाहर ही कचरा प्वाइंट है। इतनी गंदगी रहती है कि वहां से निकलना मुश्किल हो जाता है। निगम काेई एक्शन नहीं ले रहा। -मंजू गुप्ता

आवारा पशु क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या है। इससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। इस ओर नगर निगम ध्यान नहीं दे रहा है। -अमित गोयल

बचे हुए काम कब तक पूरे हा़े जाएंगे। पहले ही सीसी रोड का काम लेट हो रहा है। इस कारण जनता परेशान होती है। -ब्रजकिशोर

महावीर नगर फर्स्ट में साइन बोर्ड नहीं हाेने के कारण आदमी भटक जाता है। यहां पर बंद पड़े हुए रास्तों को भी जल्दी शुरू करना चाहिए। -भूपेंद्र जैन

बरड़ा बस्ती में पानी की समस्या है। गर्मी शुरू चुकी है। भीषण गर्मी में लोग परेशान हो जाएंगे। महापौर इस ओर ध्यान दें। -विक्की दास

परिजात कॉलोनी में अभी भी मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। सेक्टर ए में काफी समस्याएं बनी हुई हैं। इसका निराकण किया जाना जरूरी है। -महेंद्र पंवार

सर्विस लेन में गड्ढा छोड़ दिया है। पारिजात कॉलोनी में अन्य क्षेत्रों की तुलना में कम काम हुआ है। विकास कार्यों की जरूरत है। -कमल मित्तल

झालावाड़ रोड कोटा का एक एंट्री प्वाइंट है। स्मार्ट सिटी के तहत उसको और भी अच्छा करना चाहिए। -एलएन शर्मा

सुभाषनगर थर्ड में गंदा पानी आता है। पीने के लायक तक नहीं है। क्षेत्र में पत्थर की कटाई केे शोर के कारण बच्चे पढ़ भी नहीं पाते। -मंजू अग्रवाल

कचरे की गाड़ियां आती ही नहीं हैं। नालियों में मलबा भरा रहता है। कचरे की गाड़ियों को आवाज देकर बुलाना पड़ता है। सफाई के हाल बहुत खराब है। -संगीता मेड़तवाल

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×