• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • धर्म सच्चा श्रावक चाहता है: विभंजन सागर
--Advertisement--

धर्म सच्चा श्रावक चाहता है: विभंजन सागर

कोटा| विभंजन सागर मुनिराज का शनिवार को जैन गली रामपुरा में मंगल प्रवेश हुआ। इससे पूर्व मुनिराज को आचार्य शशांक...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:05 AM IST
कोटा| विभंजन सागर मुनिराज का शनिवार को जैन गली रामपुरा में मंगल प्रवेश हुआ। इससे पूर्व मुनिराज को आचार्य शशांक सागर शास्त्री मार्केट जैन मंदिर से जैन गली तक छोड़ने आए। मुनि संघ द्वारा जैन गली स्थित पांचों मंदिरों की वंदना की गई। सभी मंदिरों में अभिषेक व शांतिधारा पाठ किया गया। बड़े मंदिर पर आयोजित धर्म सभा में मुनि ने श्रावक के 6 कर्तव्य देवपूजा, गुरु उपासना, स्वाध्याय, संयम, तप, दान बताए। उन्होंने कहा कि धर्म श्रावकों की भीड़ नहीं मांगता, वह तो सच्चा श्रावक चाहता है। संत सेवा ट्रस्ट के अशोक पाटनी ने जानकारी देते हुए बताया कि रविवार को सुबह 9 बजे श्री दिगंबर जैन बड़ा मंदिर में धर्मसभा एवं शाम 6:30 बजे गुरुभक्ति का आयोजन होगा।