• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • सबस्टेशन का ग्रिड फेल होने से पूरे शहर में हुई थी कटौती
--Advertisement--

सबस्टेशन का ग्रिड फेल होने से पूरे शहर में हुई थी कटौती

220 केवी सबस्टेशन सकतपुरा में शनिवार की देर रात करंट ट्रांसफार्मर में विस्फोट होने से शहर को सप्लाई देने वाली ग्रिड...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 05:10 AM IST
220 केवी सबस्टेशन सकतपुरा में शनिवार की देर रात करंट ट्रांसफार्मर में विस्फोट होने से शहर को सप्लाई देने वाली ग्रिड बैठ गई। इसके चलते पूरे शहर में एक घंटे से अधिक समय तक बिजली बंद हो गई। आखिर में हीरापुरा से लाइन लेकर कोटा शहर की सप्लाई शुरू की गई। इस बीच 20 हजार से अधिक लोगों ने बिजली कंपनी को शिकायत दर्ज करवाई। प्रसारण निगम के एसई तुलसीराम के अनुसार शहर में होने वाली बिजली की सप्लाई का मेजरमेंट करने वाला करंट ट्रांसफार्मर तकनीकी गड़बड़ी के कारण रात को 1.44 बजे फट गया। इससे ग्रिड बैठ गया और कोटा शहर की सप्लाई बंद हो गई। पूरा शहर अंधेरे में डूब गया। इस करंट ट्रांसफार्मर से थर्मल की लाइनें जुड़ी थी, इसका असर वहां भी हुआ और उनकी सभी पांचों इकाइयों में बिजली उत्पादन बंद हो गया।

हादसा कैसे हुआ कर रहे जांच : करंट ट्रांसफार्मर कैसे फटा इसकी जांच की जा रही है। 220 केवी जीएसएस पर इसे वर्ष 2014 में लगाया गया था, तब से यह लगातार काम कर रहा था।

जयपुर से लेनी पड़ी सप्लाई

कोयले की कमी के कारण पहले ही थर्मल की दो इकाइयां बंद हैं। शनिवार की रात को 220 केवी जीएसएस पर हुए हादसे के कारण इसकी सभी पांचों इकाइयां ठप हो गई। इन्हें शुरू करने के लिए हीरापुरा जीएसएस से स्टार्टर पावर लिया गया। जिससे एक-एक करके चार इकाइयों को चालू किया गया।

20 हजार शिकायतें आईं

एसई के अनुसार 220 केवी जीएसएस को थर्मल व आरएपीपी से बिजली मिलती है। इसके फेल होने से दोनों जगह से बिजली मिलना बंद हो गया। इसके बाद प्रयास करके जयपुर के हीरापुरा जीएसएस से सप्लाई लेकर कोटा की बिजली चालू की गई। इस काम में करीब एक घंटे का समय लग गया। उन्होंने बताया कि बिजली की सप्लाई रात को 1.44 बजे बंद हुई थी और 2.30 बजे बहाल कर दी गई थी। उधर, बिजली कंपनी के अधिकारी अभिजोय कुमार ने बताया कि करीब एक घंटे के दौरान 20 हजार 731 लोगों ने शिकायत दर्ज करवाई।