Hindi News »Rajasthan »Kota» कैदी वार्ड की सुरक्षा में लगे पांचों पुलिसकर्मी सस्पेंड, घटनास्थल की कराई वीडियोग्राफी

कैदी वार्ड की सुरक्षा में लगे पांचों पुलिसकर्मी सस्पेंड, घटनास्थल की कराई वीडियोग्राफी

न्यू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के कैदी वार्ड में शनिवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद कैदी संजय नगर निवासी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:10 AM IST

कैदी वार्ड की सुरक्षा में लगे पांचों पुलिसकर्मी सस्पेंड, घटनास्थल की कराई वीडियोग्राफी
न्यू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के कैदी वार्ड में शनिवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद कैदी संजय नगर निवासी नवाब उर्फ बंटी (32) के शव का रविवार सुबह एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में पोस्टमार्टम हुआ। न्यायिक अधिकारी की मौजूदगी में मेडिकल बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम करने वाले बोर्ड में 2 मेडिकल ज्यूरिष्ट व 1 फिजिशियन शामिल रहे। सुरक्षा के लिहाज से मोर्चरी के बाहर भारी पुलिस जाब्ता तैनात रहा। वहीं, वार्ड में सुरक्षा में तैनात पांचों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है।

महावीर नगर सीआई ताराचंद ने बताया कि इस मामले की अब न्यायिक जांच होगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट फिलहाल नहीं दी गई है, बोर्ड ने मृतक के उपचार से जुड़े जरूरी दस्तावेज भी लिए हैं। इससे पहले रात को करीब 3 बजे न्यायिक मजिस्ट्रेट कैदी वार्ड पहुंचे और मौका मुआयना किया। वहां से जरूरी सामग्री भी जब्त की गई, कुछ लोगों के बयान भी लिए गए। घटनास्थल की वीडियोग्राफी कराई गई। रविवार को पोस्टमार्टम की भी वीडियोग्राफी हुई। मोर्चरी के बाहर मौजूद मृतक के परिजन बार-बार यही कहते रहे कि जेल में उसे परेशान किया गया। मृतक के भाई ने आरोप लगाया कि तबीयत खराब होने के बाद जब भी मैं उससे मिलने जेल जाता था और कुछ फल या अन्य सामान देता था तो मुझसे पैसा लिया जाता था। मुझे तो यह भी आशंका है कि उसे अंदर पूरा सामान भी नहीं भिजवाया जाता था। गौरतलब है कि चेक अनादरण के मामले में सजायाफ्ता नवाब को तबीयत बिगड़ने पर 27 मार्च को जेल से नए अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती कराया था। शनिवार को वह टॉयलेट में गया और वापस नहीं लौटा। वहां मौजूद सुरक्षा प्रहरियों ने बाद में टॉयलेट की तरफ जाकर देखा तो वह घुटनों के बल पड़ा मिला। मामले को लेकर देर रात तक हंगामा चला था।

पोस्टमार्टम रूम पर भीड़।

सीओ को सौंपी मामले की जांच

नए अस्पताल के कैदी वार्ड में बंदी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में एसपी अंशुमन भौमिया ने वहां की सुरक्षा में लगे पांचों पुलिसकर्मियों को रविवार को सस्पेंड कर दिया। वहीं मामले की विभागीय जांच वृत्ताधिकारी चतुर्थ को सौंपी गई है। एसपी ने बताया कि हिरासत में मौत के मामलों को लेकर बने हुए स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल को फॉलो करते हुए जांच होने तक पांचों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। जांच में जैसे तथ्य सामने आएंगे, वैसी कार्रवाई होगी । निलंबित होने वालों में हैड कांस्टेबल सुरेश चंद, कांस्टेबल जगदीश, राजकुमार, कुलदीप व प्रकाशचंद शामिल हैं। इनकी घटना के वक्त कैदी में वार्ड में ड्यूटी थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×