Hindi News »Rajasthan »Kota» इसरो का 10 साल का मिशन 2 दिन में फेल, खर्च हुए थे 270 करोड़ रु.

इसरो का 10 साल का मिशन 2 दिन में फेल, खर्च हुए थे 270 करोड़ रु.

बेंगलुरू | भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से रविवार की ओर से जारी एक बयान ने देशवासियों को चौंका दिया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:15 AM IST

इसरो का 10 साल का मिशन 2 दिन में फेल, 
खर्च हुए थे 270 करोड़ रु.
बेंगलुरू | भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से रविवार की ओर से जारी एक बयान ने देशवासियों को चौंका दिया। इसमें बताया गया कि दो दिन पहले लॉन्च किया गया कम्युनिकेशन सैटेलाइट जीएसएटी-6ए का इसरो से संपर्क टूट गया। ऐसा तीसरे और आखिरी चरण में लैम इंजन की फायरिंग के दौरान हुआ। हालांकि इसरो वैज्ञानिक सैटेलाइट से दोबारा संपर्क की लगातार कोशिश कर रहे हैं। इस सैटेलाइट को 10 साल के लिए अंतरिक्ष भेजा गया था। 8 साल में दूसरी बार किसी कम्युनिकेशन सैटेलाइट की लॉन्चिंग असफल रही है। इससे पहले दिसंबर 2010 में जीएसएटी-5पी की लॉन्चिंग फेल रही थी।

जीएसएटी-6ए पर 270 करोड़ रु. का खर्च आया था।

इसरो का कुल बजट 10,783 करोड़ रुपए है।

यह 2140 किलो वजनी और 49.1 मीटर लंबा था।

यह जीएसएलवी-एफ08 से श्रीहरिकोटा से लॉन्च हुआ था।

इसे पृथ्वी से 36,692 किमी ऊपर स्थापित किया गया था।

इसका एंटीना 6 मीटर चौड़ा था, सामान्य से 3 गुना ज्यादा।

जीएसएटी-6ए से दोबारा संपर्क की कोशिश जारी

फायदा सुदूर इलाकों में सेना को मदद मिलती यह सैटेलाइट सुदूर इलाकों में मोबाइल सिग्नल को पहुंचाने में मदद करता। साथ ही सेना की कम्युनिकेशन सिस्टम को भी इससे काफी मजबूती मिलती।

20 साल में 5वां संचार सैटेलाइट फेल

नाम लॉन्चिंग डेट एप्लीकेशन

जीएसएटी-6ए मार्च 2018 कम्युनिकेशन

आईआरएनएसएस-1एच अगस्त 2017 नैविगेशन

जीएसएटी-5पी दिसंबर 2010 कम्युनिकेशन

जीएसएटी-4 अप्रैल 2010 कम्युनिकेशन

आइएनएसएटी-4सी जुलाई 2006 कम्युनिकेशन

आइएनएसटी-2डी जून 1997 कम्युनिकेशन

चुप्पी 1 दिन पहले चेयरमैन ने की थी मैराथन बैठक

सैटेलाइट की लॉन्चिंग के बाद से इसरो के वैज्ञानिक इसको लेकर चुप्पी साधे हुए थे। शनिवार को चेयरमैन के शिवन ने वैज्ञानिकों के साथ मैराथन बैठक भी की थी।

उम्मीदों का अधूरा मिशन

आठ साल में दूसरी बार इसरो के किसी कम्युनिकेशन सैटेलाइट की लॉन्चिंग फेल रही है

आखिरी चरण में सैटेलाइट के इंजन में फायरिंग से संपर्क टूटा

सफलता इसरो 28 देशों के 236 सैटेलाइट भेज चुका है

इसरो अब तक 96 स्पेसक्राफ्ट मिशन, 69 लॉन्च मिशन, 9 स्टूडेंट्स मिशन, 2 री-इंट्री मिशन भेजे हैं। इसके अलावा 28 देशों के 236 सैटेलाइट भी भेज चुका है।

32 साल में 12वां स्पेसक्राफ्ट मिशन असफल, 7 संचार के

इसरो ने 32 साल में 96 स्पेसक्राफ्ट सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे हैं। इनमें से जीएसएटी-6ए 12वां मिशन है, जो फेल होने के कगार पर है। सबसे ज्यादा 7 कम्युनिकेशन सैटेलाइट असफल रहे हैं। इसरो ने अपना पहला स्पेसक्राफ्ट सैटेलाइट अंतरिक्ष में 1975 में भेजा था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×