--Advertisement--

जल वितरण

धूप तेज होने के चलते फसलों में इस वक्त ज्यादा सिंचाई की जरूरत है। इधर, चंबल सिंचाई परियोजना की जल वितरण समितियों ने...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:35 PM IST
जल वितरण
धूप तेज होने के चलते फसलों में इस वक्त ज्यादा सिंचाई की जरूरत है। इधर, चंबल सिंचाई परियोजना की जल वितरण समितियों ने शिकायत की है कि राजस्थान के किसानों को उपलब्ध कराने के बजाय सीएडी मध्यप्रदेश को पानी पहुंचा रहा है।

अयाना व लक्ष्मीपुरा वितरिकाओं में कम कर रखा है पानी का गेज

जल वितरण समिति के अध्यक्ष हरिशंकर मीणा ने बताया कि पिछले 7 से 8 दिन से अयाना ब्रांच में हेड से किसानों को पानी नहीं मिल रहा है। साढ़े तीन फीट गेज की जगह पर ब्रांच में 2 फीट पानी का गेज बना हुआ हैं। सीएडी के इंजीनियरों को बोलने के बाद भी ब्रांच में पानी का गेज नहीं बढ़ाया जा रहा हैं। क्षेत्रीय किसानों को छोड़कर सीएडी प्रशासन मध्यप्रदेश को पानी दिया जा रहा है। जो गलत हैं। मीणा ने कहा कि ऐसे ही लक्ष्मीपुरा वितरिका के गेट डाउन कर रखे हैं। 60 की जगह पर 40 क्यूसेक गेज कर रखा हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान के किसानों को पानी नहीं मिलने से सीएडी प्रशासन के प्रति आक्रोश व्याप्त हैं। किसानों की पानी मांग पूरी नहीं हुई, तो जल्द ही वह लोग धरना प्रदर्शन शुरु करेंगे।

जल उपयोक्ता संगम अंता व सरकन्या जल वितरण समिति के अध्यक्ष रामेश्वर नागर ने बताया कि कालीसिंध एक्वाडक्ट से लेकर इटावा ब्रांच तक सीएडी प्रशासन ने मेन केनाल से निकलने वाले 35 माइनर बंद कर रखे हैं। जबकि किसानों को इस समय गेहूं की सिंचाई के लिए नहरी पानी की डिमांड हैं। पानी नहीं मिलने से किसानों की फसलें प्रभावित रही हैं। किशनपुरा तकिया ब्रांच में पानी का गेज कम करके 30 क्यूसेक पानी चलाया जा रहा हैं।

क्लोजर को देखते हुए मेन केनाल के माइनर हैं बंद

एसई एसके सामरिया ने कहा कि नहरी रेगुलेशन में क्लोजर निर्धारित हैं। उसके तहत ही सीएडी ने मेन केनाल के माइनरों को बंद किया गया हैं। बाकी ब्रांचों में रोटेशन प्रणाली के अनुसार नहरी पानी दिया जा रहा हैं। मध्यप्रदेश को पानी देने की शिकायत समिति प्रतिनिधि कर रहे हैं वह गलत हैं। एमपी को दाईं मुख्य नहर में चल रहे 6225 क्यूसेक पानी में से 31 से 3200 क्यूसेक पानी दिया जा। जबकि एमपी की डिमांड 3900 क्यूसेक की हैं।

समितियों ने प्रदेश की वितरिकाओं में गेज कम करके म.प्र. को पानी देने का आरोप लगाया

X
जल वितरण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..