Hindi News »Rajasthan News »Kota News» Changes In One Rupees Note Last Century

100 साल में 15 बार बदला 1 रुपए का नोट, मोदी ने दोबारा शुरू करवाई प्रिंटिंग

प्रवीण जैन | Last Modified - Nov 26, 2017, 11:07 PM IST

30 नवंबर 1917 को सबसे पहले एक रुपए का नोट जॉर्ज-V के वक्त जारी किया गया था।
    • VIDEO: भारत की करंसी के 5 इंटरेस्टिंग फैक्ट्स।

      कोटा. एक रुपए का नोट 30 नवंबर को 100 साल पूरे कर लेगा। 1917 में इसी दिन सबसे पहले एक रुपए का नोट जॉर्ज फिफ्थ के वक्त जारी किया गया था। इसमें उनकी फोटो थी। इस पर नोट नंबर और गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के अफसर के साइन थे। इनकी प्रिंटिंग इंग्लैंड में की गई थी। इसका जिक्र राजस्थान के किशोर झुंझुनवाला की किताबों में भी है।

      - कोटा के कॉइन और नोट कलेक्टर शुभम लोढ़ा के पास देश में अब तक प्रिंट हुए एक रुपए के सभी तरह के नोटों का कलेक्शन है। उनके पास 1940 में ब्रिटिश गवर्नमेंट द्वारा प्रिंट किया गया एक रुपए का नोट भी है।
      - लोढा के मुताबिक, 1917 से लेकर आज तक एक रुपए के नोट का डिजाइन 15 बार बदला गया है।
      - बैंक नोट एक्सपर्ट्स और रिसर्चर डॉ. एसके राठी बताते हैं कि 1917 से पहले महारानी विक्टोरिया और किंग एडवर्ड के समय एक रुपए के नोट को जारी नहीं किया जा सका था।

      1994 में बंद हुई प्रिंटिंग, 2015 में दोबारा शुरू
      - 1994 तक एक रुपए के नोट चलन में कम होने लगे तो केंद्र सरकार ने इसकी छपाई बंद करा दी थी।
      - पीएम नरेंद्र मोदी ने 2015 में इनकी छपाई फिर शुरू कराई। ये नोट अभी तक प्रिंट हो रहे हैं। एक रुपए के नए नोट में 'स्वच्छ भारत' लिखा बापू का चश्मा और 'एक कदम स्वच्छता की ओर' प्रिंट नहीं है। वहीं, 50, 200, 500 और 2000 रुपए के नए नोट में ये प्रिंट किया हुआ है।

      नए नोट का रंग गुलाबी-हरा
      - रिजर्व बैंक ने 2017 के बीच एक रुपए के नए नोट जारी किए, जिनका रंग गुलाबी और हरा है। पुराने नोट इंडिगो रंग के होते थे।
      - एक रुपए का नोट भारत सरकार जारी करती है। ऐसे में इसके ऊपर भारत सरकार और उसके नीचे अंग्रेजी में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया छपा होता है। इसके अलावा बाकी सभी नोट रिजर्व बैंक जारी करता है, इसलिए इसके ऊपर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया छपा होता है।

      - एक रुपए के नोट पर रिजर्व बैंक के गवर्नर की जगह सेंट्रल गवर्नमेंट के फाइनेंस सेक्रेटरी के साइन होते हैं।

      हैंडमेड पेपर से बना था 1917 वाला नोट
      - 1917 में इंग्लैंड में छपे नोट हैंडमेड पेपर से बने थे। उस पर वॉटर मार्क की दो वैरायटी थीं। उस वक्त ऐसे नोट ब्रिटिश ईस्ट अफ्रीका (जो अब केन्या, यूगांडा और तंजानिया है) में भी चलते थे। इस पर एमएमएस ग्यूब्बे के साइन थे।
      - जॉर्ज-V के वक्त 5 तरह के अफसरों के साइन वाले नोट जारी किए गए थे।
      - जॉर्ज VI के वक्त सिर्फ एक तरह का नोट जारी हुआ उस पर सीई जोन्स के साइन थे। यह 1944 में जारी हुआ और 1957 में इसे विड्रॉ कर लिया गया।
      - आजाद भारत में 1949 से 1994 तक 18 अफसरों के साइन वाले एक रुपए के नोट जारी किए गए।

    • 100 साल में 15 बार बदला 1 रुपए का नोट, मोदी ने दोबारा शुरू करवाई प्रिंटिंग
      +3और स्लाइड देखें
      30 नवंबर 1917 को पहली बार छपा था एक रुपए का नोट। -फाइल
    • 100 साल में 15 बार बदला 1 रुपए का नोट, मोदी ने दोबारा शुरू करवाई प्रिंटिंग
      +3और स्लाइड देखें
      1994 में एक रुपए के नोट की छपाई बंद कर दी गई। यह इंडिगो कलर में छपता था। -फाइल
    • 100 साल में 15 बार बदला 1 रुपए का नोट, मोदी ने दोबारा शुरू करवाई प्रिंटिंग
      +3और स्लाइड देखें
      2015 में एक रुपए के नोट की प्रिंटिंग दोबारा शुरू की गई। यह गुलाबी और हरे रंग में छपता था। -फाइल
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kota News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Changes In One Rupees Note Last Century
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Stories You May be Interested in

        रिजल्ट शेयर करें:

        More From Kota

          Trending

          Live Hindi News

          0
          ×