Hindi News »Rajasthan »Kota» Commmissioner Pa Arrested Taking Bribe

घूस के लिए फोन करता रहा अफसर का पीए, एसीबी ने पकड़ा तो बेहोश हुआ

अजमेर के सेल्स टैक्स उपायुक्त (अपीलीय प्राधिकारी) का पीए कोटा में घूस लेते गिरफ्तार

Bhaskar News | Last Modified - Nov 23, 2017, 07:48 AM IST

घूस के लिए फोन करता रहा अफसर का पीए, एसीबी ने पकड़ा तो बेहोश हुआ

कोटा. कोटा एसीबी की टीम ने बुधवार को अजमेर के सेल टैक्स उपायुक्त (अपीलीय प्राधिकारी) शिव दयाल मीणा के पीए (निजी सहायक) जितेंद्र परचवानी को एक व्यापारी से 11 हजार रुपए की घूस लेते गिरफ्तार कर लिया। फरियादी सुमित जैन जैसे ही ऑफिस में गया तो जितेन्द्र ने बोला कि तुम्हारे कागज बन गए हैं, तुम साहब एसडी मीणा से बात कर लो। सुमित ने उनसे बात की और वो बाहर आ गया। सुमित बाहर गया तो जितेन्द्र का फोन गया कि कहां हो... सुमित ने बोला कि मैं बाहर स्टैंड पर हूं। स्टेंड पर जितेन्द्र आया और सुमित ने उन्हें वहां 11 हजार रुपए दिए, जिसे वो पैंट की जेब में रखकर चला गया। जैसे ही वो ऑफिस तक पहुंचा, उसे एसीबी ने दबोच लिए। एसीबी को देखते ही जितेन्द्र घबरा गया। होश खो बैठा और बेहोशी की हालत में हो गया। अधिकारियों ने उसे बैठाकर पानी पिलाया, तब जाकर वो सामान्य हुआ। लेकिन, पूरी कार्रवाई के दौरान जितेन्द्र बार-बार एक ही रट लगाए हुए था कि- मुझे मेरी पत्नी से बात करवा दो।


एसीबी सीआई विवेक सोनी ने बताया कि बूंदी जिले के तालेड़ा निवासी सुमित जैन की फर्म के खिलाफ विभाग ने कुछ साल पहले कार्रवाई की थी। इसमें उसने उपायुक्त के पास अपील की थी। पीए ने उसे बताया था कि पैनल्टी व टैक्स मिलाकर करीब 5 लाख रुपए देने पड़ेंगे। इसमें से करीब 3.50 लाख रुपए माफ कराने की एवज में पीए ने पहले 50 हजार रुपए की मांग की। फिर 25 हजार पर मामला आया। इसके बाद अजमेर बुलाया और 15 हजार रुपए में सौदा तय किया। इसमें से 4 हजार रुपए पहले ले लिए थे।

मुझे अपना पक्ष नहीं रखना
सेल्स टैक्स उपायुक्त शिव दयाल मीणा ने बताया कि प्रोसीडिंग चल रही है। एसीबी जांच कर रही है। इसके बीच में मुझे कुछ नहीं बोलना। मैं अपना कोई पक्ष नहीं रखना चाहता।

मैंने ईमानदारी से काम किया
आरोपी बाबू लालचंद का कहना है कि 5 हजार तो दूर मैंने कभी 500 रुपए भी नहीं लिए। नोटिस भेजना, फाइल लाना, फाइल आगे भेजना, टैक्स बोर्ड फाइल भेजना सब मेरा काम है, वो मैं पूरी ईमानदारी से कर रहा हूं। मेरे पर लगे आरोप निराधार हैं। पैसे लेने वालों के खुद के घर होते हैं, मैं तो आज तक खुद का घर नहीं बना सका।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kota News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ghus ke liye fon kartaa raha afsr ka pie, esibi ne pkdeaa to behosh hua
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×