--Advertisement--

मुखबिरी की आशंका में नशे के तस्करों ने दो युवकों को अगवा किया, पेड़ से बांध एक को पीट-पीट कर मार डाला, दूसरा घायल

यह सनसनीखेज घटना सोमवार रात भैंसरोडगढ़ थाना क्षेत्र के गांव प्रतापपुरा की है।

Danik Bhaskar | Jul 18, 2018, 02:13 PM IST

रावतभाटा/भैंसरोडगढ़. नशे की तस्करी से जुड़े लोगों ने मुखबिरी की आशंका में प्रतापपुरा गांव के दो युवकों को अगवा कर लिया और पेड़ से बांधकर इतना पीटा कि एक युवक की मौत हो गई। वहीं दूसरा युवक गंभीर घायल हो गया। उसे रावतभाटा के रैफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

- यह सनसनीखेज घटना सोमवार रात भैंसरोडगढ़ थाना क्षेत्र के गांव प्रतापपुरा की है। इस हत्याकांड में प्रभु मीणा (40) पुत्र नारायण मीणा निवासी प्रतापपुरा की हत्या हो गई। वहीं, मुकेश पुत्र घीसा मीणा निवासी कोठारी का कुआं घायल हो गया। रावतभाटा एएसपी भवानीशंकर मीणा ने बताया कि पिछले दिनों एनडीपीएस मामले में भगोड़ा चल रहे श्यामलाल धाकड़ को भिनाय अजमेर पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

ये लोग बनाए गए आरोपी

- श्यामलाल धाकड़ के साथी जमील पुत्र मुबारक निवासी धांगणमऊ, विमल पुत्र रामेश्वर धाकड़ निवासी बोराव, अर्जुनसिंह पुत्र भंवरसिंह सोलंकी निवासी प्रतापपुरा, इकबाल उर्फ अरबाज पुत्र फिरोज निवासी बोराव, कुका धाकड़ इस मामले में आरोपी बनाए गए। श्यामलाल धाकड़ को जब गिरफ्तार किया गया तो उसे यह शंका थी कि मुकेश और प्रभु मीणा ने पुलिस की मुखबिरी कर गिरफ्तार कराया। एएसपी के अनुसार श्यामलाल धाकड़ को पकड़ने वाले धामनिया के दिनेश कांस्टेबल की भी हत्या करने की आरोपियों की योजना थी। इस मामले में मृतक के पड़ोसी आरोपी अर्जुनसिंह पुत्र भंवरसिंह सोलंकी निवासी प्रतापपुरा को राउंडअप कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है।