--Advertisement--

कोटा में 4.5 इंच बारिश, सीजन में पहली बार बैराज के 5 गेट खोले

मानसून फिर सक्रिय, प्रतापगढ़-डूंगरपुर में 8-8 इंच बारिश

Danik Bhaskar | Aug 23, 2018, 07:26 AM IST

जोधपुर. प्रदेश में एक बार फिर मानसून सक्रिय होने से मेवाड़, वागड़ और हाड़ौती के कई जिलों में मंगलवार रात और बुधवार को भारी बारिश हुई। पिछले 24 घंटे में अलग-अलग जगह वर्षाजनित हादसों में एक गर्भवती महिला व नवजात सहित 6 लोगों की मौत हो गई। प्रतापगढ़ के गादोला व डूंगरपुर के गलियाकोट में 8-8 इंच बारिश हुई। जाखम बांध में एक ही दिन में 3 मी. पानी आया है।


कोटा में साढ़े चार इंच से ज्यादा बारिश के बाद अनंतपुरा व रैत्या चौकी में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। इस सीजन में पहली बार कोटा बैराज के 5 गेट खोले गए। अनंतपुरा में लोगों को बचाने के लिए नाव का उपयोग करना पड़ा। रैत्या चौकी में 5-5 फीट तक पानी भर गया। नयापुरा में एक मंदिर, मौजीबाबा आश्रम की दीवार गिर गईं। बांसवाड़ा के सुरवानिया बांध के 7 गेट खोल दिए हैं।
बेणेश्वर फिर बना टापू, 50 लोग फंसे
डूंगरपुर जिले के गलियाकोट में 8 इंच जबकि डूंगरपुर शहर व धंबोला में 2-2 इंच बारिश हुई। बेणेश्वर धाम एक बार फिर से टापू बन गया है। इस मौसम में अब तक तीसरी बार टापू बने बेणेश्वर धाम पर करीब 50 से ज्यादा श्रद्धालु फंसे हुए हैं।
बूंदी में 2, बारां-झालावाड़ में 1-1 की मौत, प्रतापगढ़ में मां-बेटी की मौत
बूंदी जिले में दो अलग-अलग जगह बरसाती खाळ में तेज बहाव में बहने से दो लोगों जलोदी निवासी उदालाल गुर्जर व मालियों की मरांडी निवासी सत्यनारायण सैनी की मौत हो गई। बारां की उजाड़ नदी में नहाते वक्त 15 वर्षीय अरुण की डूबने से मौत हो गई। झालावाड़ के भवानीमंडी में दिलीपसिंह रेवा नदी के तेज बहाव में बह गया। प्रतापगढ़ के जैथलिया गांव में पुलिया पर पानी बहने से एंबुलेंस के नहीं पहुंच सकी। गर्भवती महिला शारदा और नवजात की मौत हो गई।
कहां-कितनी बारिश (मिमी में)
गादोला टैंक 201
प्रतापगढ़ 176
पीपलखूंट 171
बांसवाड़ा 130
जाखम डैम 112
कोटा 105.8