• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kota
  • पुलिस दिवस : रेंज के 293 पुलिसकर्मियों और तीन नागरिकों का किया गया सम्मान
--Advertisement--

पुलिस दिवस : रेंज के 293 पुलिसकर्मियों और तीन नागरिकों का किया गया सम्मान

Kota News - राजस्थान पुलिस दिवस के मौके पर सोमवार को रिजर्व पुलिस लाइन कोटा शहर में रेंज स्तरीय पुलिस दिवस समारोह हुआ। संचित...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 04:55 AM IST
पुलिस दिवस : रेंज के 293 पुलिसकर्मियों और तीन नागरिकों का किया गया सम्मान
राजस्थान पुलिस दिवस के मौके पर सोमवार को रिजर्व पुलिस लाइन कोटा शहर में रेंज स्तरीय पुलिस दिवस समारोह हुआ। संचित निरीक्षक सीआई विजय शंकर शर्मा ने तीन दल परेड का नेतृत्व करते हुए मुख्य अतिथि आईजी रेंज विशाल बंसल को सशस्त्र सलामी दी।

तीन दलों में दूसरे दल का नेतृत्व एसआई देशराज व तीसरे महिला दल का नेतृत्व एसआई मौसम यादव ने किया। एसपी अंशुमन भौमिया ने बताया कि समारोह में कुल 276 पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया गया। जिसमें कोटा शहर के 18, कोटा ग्रामीण के 5, बूंदी के 22, बारां के 18 और झालावाड़ के 3 पुलिसकर्मियों को सर्वोत्तम सेवा चिह्न दिए गए। कोटा शहर के 63 और कोटा ग्रामीण के 36 पुलिसकर्मियों को अति उत्तम सेवा चिह्न दिए। कोटा शहर के 65 और ग्रामीण के 46 पुलिसकर्मियों को उत्तम सेवा चिह्न दिए गए। सेवा चिह्न एएसपी कोटा सिटी समीर कुमार, एएसपी मुख्यालय उमेश ओझा और एएसपी कोटा ग्रामीण गोपाल कानावत ने दिए। वहीं, 17 ऐसे पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया, जिन्हें पुलिस कार्यों में विशिष्ट दक्षता हासिल हैं। इस मौके शिक्षा और खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले पुलिसकर्मियों के बच्चों को भी सम्मानित किया गया। पुलिस कार्यों में सहयोग करने वाले आम नागरिकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। समारोह में लगे रक्तदान शिविर में 83 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया।

121 यूनिट किया रक्तदान

द्वितीय बटालियन आरएसी द्वारा सोमवार को बटालियन कैंपस में जवानों के लिए मेडिकल कैंप लगाया गया। जिसमें उनके नाक, कान, गला, नेत्र रोग जैसे कई बीमारियों का रूटीन चेकअप करवाया गया। इस मौके पर रक्तदान शिविर में जवानों ने 121 यूनिट रक्तदान किया।

आईजी विशाल बंसल व एसपी अंशुमन भौमिया ने सीआई लोकेन्द्र को सम्मानित किया।

...और इन्हें डीजीपी ने किया सम्मानित

परफार्मेंस मेजरमेंट सिस्टम रिपोर्ट वर्ष 2017-18 में कोटा ग्रामीण पुलिस को विभिन्न क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ कार्रवाई करने पर प्रदेश में पहला स्थान मिला है। डीजीपी ओपी गहलोत्रा ने इस उपलब्धि पर कोटा ग्रामीण एसपी डॉ. राजीव पचार को जयपुर में हुए पुलिस दिवस समारोह में सोमवार को सम्मानित किया। जिला कोटा ग्रामीण ने वर्ष 2017 के दिसंबर तक औसतन 83.09% अंक और 2018 मार्च की रिपोर्ट औसतन 90.15% अंक प्राप्त कर राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया।

मोगा को मिली डीजीपी डिस्क: जिला कोटा ग्रामीण के स्पेशल सेल के एएसआई अजीत मोगा को डीजीपी डिस्क के सम्मान से सम्मानित किया गया। यह सम्मान मोगा को एक साल में 5 ब्लाइंड मर्डर खोलने, 100 से ज्यादा चोरी, वाहन चोरी, धार्मिक स्थलों पर चोरी, 2 गैंग को पकड़कर 21 अवैध पिस्टल व कट्टे एवं 11 इनामी बदमाशों को गिरफ्तार करने के काम को देखते हुए दिया गया।

डॉ. राजीव पचार

पुलिसकर्मियों के बेटे-बेटियों का हुआ सम्मान

कोमल राज सहरिया: यह महिला थाना सीआई कुसुमलता की बेटी हैं। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं के एग्जाम में 94% अंक प्राप्त किए।

तीन आम नागरिक सम्मानित

पुलिस दिवस समारोह में इन्हें भी सम्मानित किया गया।

अजीत मोगा

ऋतिक ओझा: यह एएसपी मुख्यालय उमेश ओझा के बेटे हैं। नेशनल ड्रॉमा प्रतियोगिता बैंगलुरू में उत्कृष्ट प्रदर्शन करके सर्वोच्च मैडल प्राप्त किया।

रेलवे ट्रैक आए दिन मिलने वाले अज्ञात शवों को पोस्टमार्टम रूम तक पहुंचाने में पुलिस की मदद करने वाले चंद्रप्रकाश का पुलिस ने विशेष सम्मान किया। मुस्लिम बोहरा समाज का विशेष सम्मान हुआ। समाज ने पुलिस लाइन स्थित वात्सल्य भवन निर्माण में विशेष आर्थिक सहयोग दिया था। इसी प्रकार विनोद कुमार का सम्मान किया गया, इन्होंने पुलिसकर्मियों को 60 हेलमेट देकर मदद की थी।

सम्मानित पांच श्रेष्ठ पुलिसकर्मी

भूपेंद्र हाड़ा और भूपेंद्र नागर

श्योजीराम

लोकेंद्र पालीवाल : उद्योग नगर थाने के सीआई हैं। दुष्कर्म आरोपी को 24 दिन में सजा दिलवाई। अवैध 880 पेटी अंग्रेजी शराब का ट्रक बरामद किया और 15.230 ग्राम गांजा पकड़ा। अनंतपुरा 25 लाख की लूट और भीमगंजमंडी में भाजपा नेता की हत्या मामले में बदमाश को गिरफ्तार किया। उद्योग नगर में पेंडेंसी में 5% की कमी लाए।

प्रताप सिंह: एसपी ऑफिस में हैड कांस्टेबल हैं। 27 किलो सोना लूट मामले में बदमाशों को ट्रेस करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। घोड़ासन गैंग को पकड़कर 10 लाख के मोबाइल बरामद किए। एटीएम चोरी मामले में बदमाशों को पंजाब से पकड़ा। हर बड़ी वारदात में टेक्निकल इन्वेस्टिगेशन करते हैं।

श्योजीराम: मानव तस्करी विरोधी यूनिट में हैड कांस्टेबल हैं। 2015 में 74, 2016 में 90 और 2017 में 96 कुल 260 बालक/बालिकाओं को परिजनों से मिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

भूपेन्द्र हाड़ा, विपुल चौधरी और भूपेन्द्र नागर: तीनों कोटा ग्रामीण की एमओबी शाखा में कांस्टेबल हैं। 6 से ज्यादा इनामी बदमाशों की गिरफ्तारी, सुल्तानपुर में विकास हत्याकांड में बदमाश पकड़ने, मोग्या गैंग पकड़ने, वाहन चोरी मामलों के पर्दाफाश में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई।

सत्यनारायण: पुलिस लाइन बैंड में कांस्टेबल हैं। 7 नवंबर 2017 को हिम्मत का परिचय देते हुए जलते ऑटो में कूदकर कांस्टेबल ओमप्रकाश की जान बचाई। इस काम में यह खुद जल गए।

प्रताप सिंह

सत्यनारायण

X
पुलिस दिवस : रेंज के 293 पुलिसकर्मियों और तीन नागरिकों का किया गया सम्मान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..