• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • फेक सर्कुलर जारी करने वालों के खिलाफ होगी कानूनी कार्रवाई
--Advertisement--

फेक सर्कुलर जारी करने वालों के खिलाफ होगी कानूनी कार्रवाई

राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के साइन को कॉपी पेस्ट करके फेक सर्कुलर को सोशल मीडिया पर वायरल कर...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 05:00 AM IST
राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के साइन को कॉपी पेस्ट करके फेक सर्कुलर को सोशल मीडिया पर वायरल कर छात्रों को भ्रमित करने वालों के खिलाफ अब यूनिवर्सिटी कानूनी कार्रवाई करेगी। इस संबंध में आरटीयू के कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन प्रो. एके द्विवेदी ने बकायदा नोटिस तक वेबसाइट पर जारी कर दिया है। नोटिस में कहा गया है कि कुछ असामाजिक तत्वों की ओर से वाट्स अप, फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर विश्वविद्यालय के अधिकारियों के जाली हस्ताक्षर कर विश्वविद्यालय के नाम से जाली आदेश, नोटिसों और सर्कुलर को प्रसारित किया जा रहा है। उन्होंने स्टूडेंट्स से कहा कि वह इस प्रकार के किसी भी आदेश को गंभीरता से नहीं ले।

अधिकृत आदेश यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर ही जारी किए जाएंगे। विश्वविद्यालय के वेबसाइट व यूनिवर्सिटी की मेल आईडी से आने वाले आदेश को ही अधिकृत माना जाए। हाल ही में सोशल मीडिया पर किसी की ओर से जारी किए गए आदेशों में सत्यता नहीं है।

आरटीयू ने ट्रेस किए मैसेज, भ्रमित कर रहे हैं स्टूडेंट्स को, अब ढूंढ रहे फेक मैसेज जारी करने वालों को

यह आदेश हुए थे वायरल

हाल में बीटेक आठवां सेमेस्टर देने वालों को सेमेस्टर पास करने के बाद भी डिग्री हासिल करने के लिए एक्जिट एग्जाम देना होगा। विश्वविद्यालय के एक अधिकारी के फर्जी साइन करके यह मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल किया गया था। जबकि सत्यता यह है कि एआईसीटीई और आरटीयू ने एक्जिट एग्जाम का कोई प्रावधान नहीं कर रखा है। इसी प्रकार परशुराम जयंती पर 18 अप्रैल को आरटीयू के पेपर यथावत होंगे। उसके शिड्यूल में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। इसका नोटिस आरटीयू जारी कर चुका है, लेकिन सोशल मीडिया पर इस दिन होने वाले पेपर आगे शिफ्ट कर दिए गए हैं, ऐसा मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। यह भी गलत है। आरटीयू के पूर्व में निर्धारित पेपर 18 अप्रैल को ही होंगे। इसमें किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया गया है।