• Home
  • Rajasthan
  • Kota
  • प्रभु भक्ति से ही मानव का उद्धार : पं. मुद्रिका
--Advertisement--

प्रभु भक्ति से ही मानव का उद्धार : पं. मुद्रिका

कोटा| पुरुषोत्तम मास में कथा करने का एवं श्रवण करने का अलग ही महत्त्व है। बोट के बालाजी मंदिर पर विधायक प्रहलाद...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 05:20 AM IST
कोटा| पुरुषोत्तम मास में कथा करने का एवं श्रवण करने का अलग ही महत्त्व है। बोट के बालाजी मंदिर पर विधायक प्रहलाद गुंजल के सहयोग में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के दूसरे दिन पं. मुद्रिका प्रसाद ने कहा कि प्रभु भक्ति से ही मानव का उद्धार होगा।

मानव को वर्तमान समय में प्रभु की भक्ति में लीन होकर दया, धर्म, सेवा, परोपकार में लगकर मानव का कल्याण करना चाहिए। कथा समिति के सदस्य पंडित अनिल औदिच्य ने बताया कि श्रीमद् भागवत कथा की पूजा समाजसेवी देवेन्द्र विजय ने की और सुरेन्द्र जिंदल, चंद्रप्रकाश सोनी, हरिहर गौतम, उमेश शर्मा, विजय शर्मा ने महाआरती की।

बोट के बालाजी

अच्छे कर्म से ही मोक्ष की प्राप्ति संभव : अशोक कृष्ण

आरकेपुरम बी सेक्टर में स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर में चल रही भागवत कथा के दूसरे दिन कथा व्यास अशोक कृष्ण महाराज ने राजा परीक्षित के जन्म का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि मनुष्य को सदा अच्छे कर्म करना चाहिए, तभी उसका कल्याण संभव है। अंहकार मनुष्य में ईर्ष्या पैदा करता है। सदा सद्कर्म करना चाहिए।