Hindi News »Rajasthan »Kota» सीएचसी भवन बनने के बाद मिल सकेगी बेहतर सुविधाएं

सीएचसी भवन बनने के बाद मिल सकेगी बेहतर सुविधाएं

कस्बे में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन निर्माण के बाद कस्बे सहित क्षेत्र के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:45 AM IST

कस्बे में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन निर्माण के बाद कस्बे सहित क्षेत्र के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी। जानकारी अनुसार कस्बे के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में क्रमोन्नत होने के बाद से ही लोगों को भवन निर्माण व स्टाफ की कमी खलने लगी थी।

लगातार कस्बेवासियों द्वारा भवन निर्माण की मांग की जा रही थी। अस्पताल सूत्रों के अनुसार भवन निर्माण पूर्ण होने के बाद सीएचसी पर अतिरिक्त स्टाफ भी लगाया जाएगा। 24 घंटे अस्पताल खुला रहेगा। वहीं दिन व रात में भी मरीजों को भर्ती करके उपचार किया जा सकेगा। सीएचसी पर कई जीवनदायी औषधियां व उपकरण भी उपलब्ध हो सकेंगे। ताकि गंभीर रोगियों को भी उपचार मिल सके।

नाहरगढ़ में सामुदायिक अस्पताल के भवन का निर्माण जारी, 24 घंटे मिलेगा इलाज, अतिरिक्त स्टाफ भी नियुक्त किया जाएगा

नाहरगढ़. कस्बे में चल रहा सीएचसी भवन का निर्माण कार्य।

सवा तीन करोड़ से होगा भवन का निर्माण

कस्बे में सामुदायिक भवन का निर्माण लगभग सवा तीन करोड़ की राशि से होगा। जिसके तहत पूरा भवन दो मंजिला बनाया जाएगा। वहीं पुराने भवन से इसको जोड़ा जाएगा। इसी के साथ नए आवासों पर ही दो आवासों का निर्माण भी किया जाएगा। अन्य निर्माण भी होंगे।

35-36 गांवों के लोग होंगे लाभान्वित

कस्बे के सीएचसी भवन निर्माण के बाद क्षेत्र के लगभग 35-36 से भी अधिक गांवों के लोगों को समय पर उचित चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी। वर्तमान में क्षेत्र के दो दर्जन गांवों सहित समीपवर्ती मध्यप्रदेश के गांवों के रोगी भी यहां उपचार कराने के लिए आते हैं। कस्बे से जिला अस्पताल की दूरी लगभग 55 किमी है। वहीं किशनगंज व केलवाड़ा सीएचसी लगभग 35 से 40 किमी दूर हैं। ऐसे में गंभीर रोगियों व प्रसुताओं को परेशानी उठानी पड़ती है। भवन निर्माण के बाद रोगियों को राहत मिल सकेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×