Hindi News »Rajasthan »Kota» भिंडी की फसल में एनपीके एवं सूक्ष्म तत्वों का उपयोग करना होता है लाभकारी

भिंडी की फसल में एनपीके एवं सूक्ष्म तत्वों का उपयोग करना होता है लाभकारी

भिंडी की फसल में एनपीके एवं सूक्ष्म तत्वों का उपयोग करना होता है लाभकारी

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 06:55 AM IST

भिंडी की फसल में एनपीके एवं सूक्ष्म तत्वों का उपयोग करना होता है लाभकारी

भिंडी की फसल में टेढ़ी-मेढ़ी भिंडी लग रही हैं। इससे उत्पादन पर प्रभाव पड़ रहा है। क्या उपाय करें? -कृष्ण मुरारी गोस्वामी, पाटन, बूंदी

किसान भिंडी की फसल में एनपीके एवं सूक्ष्म तत्वों का उपयोग करें। इससे सही एवं अधिक उत्पादन होगा।

इमली का 40 वर्ष पुराना पेड़ है। फूल आते हैं, पर फल नहीं लगते। उपाय बताएं।

-कुलदीप सिंह शेखावत, जुलियासर, सीकर

इमली के पौधे की तने के भाग को छोड़कर गहरी गुड़ाई करें और उस मिट्टी में एफवाइएम सहित 25 किलो गोबर की सड़ी खाद मिलाकर सिंचाई करें। इससे फल लगना प्रारंभ हो जाएंगे।

बैंगन के पौधे में फल नहीं लग रहे। उपाय बताएं? -जोगेंद्र जांगिड़, गजवारा, मनोहरथाना

-कृषि पर्यवेक्षक के मार्गदर्शन में सूक्ष्म तत्व व दवा का उपयोग करें।

एक्सपर्ट मुकेश कुमार चौधरी, कृषि अधिकारी, उद्यान विभाग, अलवर

किसान हैल्पलाइन नंबर

18001801551, 18001806127

(सुबह 10 से शाम 5 बजे तक, टोल फ्री)

राज्य स्तरीय हैल्प डेस्क (0141-5102578)

सवाल भेजें

खेती से संबंधित अपने सवाल हमारे पास भेजें, विशेषज्ञ सुझाएंगे समाधान। पता- दिल्ली रोड मूंगस्का, अलवर मेल- agrobhaskarr2@gmail.com वॉट्‌सएप नंबर- 7597676923

कॉल न करें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×