बारां / व्हाट्सएप ग्रुप पर गैंगरेप का वीडियो पोस्ट करना पड़ा भारी, दो ग्रुप एडमिन सहित तीन गिरफ्तार



पुलिस गिरफ्त में ग्रुप एडमिन व एक अन्य आरोपी पुलिस गिरफ्त में ग्रुप एडमिन व एक अन्य आरोपी
X
पुलिस गिरफ्त में ग्रुप एडमिन व एक अन्य आरोपीपुलिस गिरफ्त में ग्रुप एडमिन व एक अन्य आरोपी

  • बिहार की घटना का वीडियो बारां के मांगरोल क्षेत्र का बताकर डाला
  • ग्रुप एडमिन ने वीडियो को वायरल होने से रोकने में नहीं निभाई जिम्मेदारी

Dainik Bhaskar

Oct 09, 2019, 07:57 PM IST

विष्णु शर्मा/ शुभम निमोडिया/बारां. सोशल मीडिया व्हाट्स एप पर बने ग्रुप में  गैंगरेप का अश्लील वीडियो पोस्ट करना एक युवक और दो ग्रुप एडमिन को भारी पड़ गया। मामले में बारां जिले की पुलिस ने त्वरित एक्शन लेते हुए दोनों ग्रुपों के एडमिन और वीडियो पोस्ट करने वाले उनके साथी को गिरफ्तार कर लिया।

 

बारां एसपी डॉ. रवि के निर्देशन में पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 67-ख आईटी एक्ट 2000, 4/6 महिलाओं का अशिष्ट विरुपण (प्रतिषेध) अधिनियम 1986, 23 पोक्सो एक्ट एवं 292 भा.द.सं. के तहत केस दर्ज किया है। 

 

एसपी डॉ. रवि ने बताया कि मामले में गिरफ्तार आरोपी उधम सिंह मीणा निवासी भैरूंपुरा थाना कवाई, आरोपी कजोड़ गुर्जर निवासी भिलान महोदरी थाना नाहरगढ़ एवं तीसरा आरोपी प्रताप गुर्जर निवासी तालाब की महोदरी थाना नाहरगढ़ है। 

 

पिछले दिनों जानकारी में आया कि मांगरोल, बारां क्षेत्र की घटना बताकर व्हाट्सएप सोशल मीडिया पर गैंगरेप की घटना का अश्लील व भ्रामक सामग्री पोस्ट की गई है। जिसमें एक लड़की के साथ कुछ युवकों द्वारा बलात्कार किया जा रहा है। इस पर कोतवाली पुलिस ने स्वतः संज्ञान लेते हुए मंगलवार को केस दर्ज किया। अनुसंधान थानाधिकारी बारां सदर रामभरोसी मीणा द्वारा प्रारंभ किया गया।

 

ग्रुप एडमिन ने ना मेंबर को पोस्ट करने पर टोका, ना पोस्ट वायरल होने से रोका 

डॉ. रवि ने बताया कि अनुसंधान से पाया गया है कि एक व्हाट्स एप ग्रुप में अश्लील एवं आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट की जाने पर ग्रुप एडमिन ने इस पोस्ट के वायरल नहीं होने के लिए कोई उपाय या कार्यवाही नहीं की। इसी ग्रुप के एक सदस्य द्वारा यह सामग्री एक अन्य व्हाट्स ग्रुप पर पोस्ट कर दी गई।

 

जिसके ग्रुप एडमिन ने भी यह अश्लील व आपत्तिजनक सामग्री के वायरल नहीं होने देने के सम्बन्ध में अपने दायित्वों में लापरवाही बरतते हुए इसको वायरल होने दिया। पुलिस अधीक्षक डाॅ. रवि ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी विजय स्वर्णकार के निर्देशन में एक पुलिस दल गठित किया गया। जिसमें थानाधिकारी बारां सदर रामभरोसी मीणा, एएसआई गिरिराज शर्मा व जगदीश चन्द्र शर्मा एवं कांस्टेबल श्रीकान्त शर्मा शामिल किये गए। 

 

DBApp

 

 


    

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना