पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

1974 की हड़ताल के बाद अब थमे ट्रेनों के पहिये

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोटा|1974 के बाद अब कोरोना वायरस ने ट्रेनों के पहियों को रोक दिया है। 22 मार्च को इंडियन रेलवे की 2400 से अधिक ट्रेनों को नहीं चलाया जाएगा। रेलकर्मियों ने 1974 में हड़ताल की थी। हड़ताल 8 मई 1974 को सबसे अधिक जोर पकड़ चुकी थी। लेकिन अब कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण रोज नई ट्रेन रद्द होती अा रही है। 22 मार्च को पश्चिम मध्य रेलवे की 90 ट्रेनें रद्द हैं। वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव ने बताया कि रेल हड़ताल के समय इंजन में चार डिब्बे लगाकर ही अधिकारी इधर-उधर जाते थे।
खबरें और भी हैं...