कैथूनीपाेल में फाेर्टवॉल के पास हाे रहे अवैध निर्माण काे निगम ने रुकवाया

Kota News - किशाेरपुरा गेट से अफीम गाेदाम राेड पर फाेर्टवॉल के पास हाे रहे अवैध निर्माण काे निगम की टीम ने माैके पर पहुंचकर...

Apr 17, 2019, 08:40 AM IST
किशाेरपुरा गेट से अफीम गाेदाम राेड पर फाेर्टवॉल के पास हाे रहे अवैध निर्माण काे निगम की टीम ने माैके पर पहुंचकर रुकवा दिया। साथ ही फिर से निर्माण नहीं करने के बारे में भी लिखवा लिया है। इससे पहले भी यहां पर बिना अनुमति के निर्माण हाे रहा था, जिसे निगम की टीम ने रुकवाया था।

अफीम गाेदाम के पास सालाें से खाली जगह पड़ी जगह पर लाेकसभा चुनावाें की अाचार संहिता लागू हाेने के साथ ही मकान का निर्माण तेजी से शुरू हाे गया। पूर्व में भी यहां पर निर्माण शुरू हुअा था तब स्थानीय पार्षद ने इसकी शिकायत निगम में की थी। शिकायत के अाधार पर निर्माण बंद करवा दिया गया था। अभाी चुनावाें की अाचार संहिता की अाड़ में यहां फिर से दूसरे मकान का निर्माण शुरू हाे गया। चूंकि यह निर्माण फाेर्टवाल के पास हाे रहा है जाे पूरी तरह से अवैध है। फाेर्टवॉल के पास किसी काे निर्माण की अनुमति नहीं दी जा सकती। शिकायत मिलते ही कार्यवाहक अायुक्त प्रेमशंकर शर्मा ने जेईएन भुवनेश काे जांच करने के लिए माैके पर भेजा।

उन्हाेंने बताया कि निर्माणकर्ता ने स्वीकार किया है कि वह बिना अनुमति के निर्माण कर रहा है। उसने बताया कि जमीन उसकी है लेकिन, पास में फाेर्टवॉल है, इसलिए उसे मकान बनाने की अनुमति नहीं मिल सकती। इसलिए बिना अनुमति के बना रहा है। जेईएन ने काम बंद करवाकर उससे दुबारा से काम नहीं करवाने के बारे में लिखित में ले लिया है। उपायुक्त ने उनसे जमीन संबंधी रिकार्ड भी मांगा है। शर्मा ने बताया कि जब तक अनुमति नहीं हाेगी निर्माण नहीं करने दिया जाएगा।

सिटी रिपाेर्टर | काेटा

किशाेरपुरा गेट से अफीम गाेदाम राेड पर फाेर्टवॉल के पास हाे रहे अवैध निर्माण काे निगम की टीम ने माैके पर पहुंचकर रुकवा दिया। साथ ही फिर से निर्माण नहीं करने के बारे में भी लिखवा लिया है। इससे पहले भी यहां पर बिना अनुमति के निर्माण हाे रहा था, जिसे निगम की टीम ने रुकवाया था।

अफीम गाेदाम के पास सालाें से खाली जगह पड़ी जगह पर लाेकसभा चुनावाें की अाचार संहिता लागू हाेने के साथ ही मकान का निर्माण तेजी से शुरू हाे गया। पूर्व में भी यहां पर निर्माण शुरू हुअा था तब स्थानीय पार्षद ने इसकी शिकायत निगम में की थी। शिकायत के अाधार पर निर्माण बंद करवा दिया गया था। अभाी चुनावाें की अाचार संहिता की अाड़ में यहां फिर से दूसरे मकान का निर्माण शुरू हाे गया। चूंकि यह निर्माण फाेर्टवाल के पास हाे रहा है जाे पूरी तरह से अवैध है। फाेर्टवॉल के पास किसी काे निर्माण की अनुमति नहीं दी जा सकती। शिकायत मिलते ही कार्यवाहक अायुक्त प्रेमशंकर शर्मा ने जेईएन भुवनेश काे जांच करने के लिए माैके पर भेजा।

उन्हाेंने बताया कि निर्माणकर्ता ने स्वीकार किया है कि वह बिना अनुमति के निर्माण कर रहा है। उसने बताया कि जमीन उसकी है लेकिन, पास में फाेर्टवॉल है, इसलिए उसे मकान बनाने की अनुमति नहीं मिल सकती। इसलिए बिना अनुमति के बना रहा है। जेईएन ने काम बंद करवाकर उससे दुबारा से काम नहीं करवाने के बारे में लिखित में ले लिया है। उपायुक्त ने उनसे जमीन संबंधी रिकार्ड भी मांगा है। शर्मा ने बताया कि जब तक अनुमति नहीं हाेगी निर्माण नहीं करने दिया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना