डॉक्टर बोले-फल व सब्जियां खाएं, नियमित व्यायाम करें तो हाइपरटेंशन से बच पाएंगे

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:06 AM IST

Kota News - स्वास्थ्य सेवा संगठन की ओर से शुक्रवार को वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पर ट्रैफिक गार्डन में जागरूकता कार्यक्रम हुआ। इस...

Kota News - rajasthan news doctors say eat fruits and vegetables exercise regularly avoid hypertension
स्वास्थ्य सेवा संगठन की ओर से शुक्रवार को वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पर ट्रैफिक गार्डन में जागरूकता कार्यक्रम हुआ। इस दौरान 50 लोगों की रक्तचाप की निशुल्क जांच की, जिनमें 5 को उच्च रक्तचाप मिला। संगठन के डाॅ. टीसी आचार्य, डाॅ. सुरेश पांडेय एवं डाॅ. सीबी दास गुप्ता ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संकल्प दिलाया कि वे खाने की टेबल पर नमक की डिब्बी नहीं रखेंगे, खाने में अतिरिक्त नमक नहीं डालेंगे और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने की दवा डॉक्टर की सलाह पर नियमित लेंगे। इन वक्ताओं ने कहा कि भारत में हर 4 में से 1 व्यक्ति को ब्लड प्रेशर या डायबिटीज है। उच्च रक्तचाप के शुरुआत में कोई लक्षण नजर नहीं आते, इसलिए रोगी को देरी से इसका पता चलता है। लोगों को उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण व रोकथाम के उपायों पर जानकारी दी गई। डाॅ. पुरुषोत्तम मित्तल, डाॅ. एमएल अग्रवाल, डाॅ. अविनाश बंसल, डाॅ. गीता बंसल, डाॅ. जेके बरथूनिया, डाॅ. नवनीत बागला, डाॅ. दिनेश जिंदल ने लोगों के सवालों के जवाब दिए। सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डाॅ. पुरुषोत्तम मित्तल ने बताया कि हार्ट शरीर के सभी अंगों को नलिकाओं द्वारा रक्त को पहुंचाने का कार्य करता है। इसी रक्तप्रवाह के समय हार्ट एक दबाव पैदा करता है, जो रक्त नलिकाओं के अंदरूनी भाग पर पड़ता है। इस दबाव को रक्तचाप या ब्लड प्रेशर कहते हैं। डॉक्टरों ने कहा दिन में 5 बार सब्जी या फल खाएं, दो घंटे से ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग नहीं करें। एक घंटा व्यायाम जरूर करें, फास्ट-फूड नहीं खाएं। संगोष्ठी में आईएसटीडी की चेयरपर्सन अनिता चौहान ने चिकित्सकों का अभिनंदन किया।

हैल्थ रिपोर्टर|कोटा

स्वास्थ्य सेवा संगठन की ओर से शुक्रवार को वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पर ट्रैफिक गार्डन में जागरूकता कार्यक्रम हुआ। इस दौरान 50 लोगों की रक्तचाप की निशुल्क जांच की, जिनमें 5 को उच्च रक्तचाप मिला। संगठन के डाॅ. टीसी आचार्य, डाॅ. सुरेश पांडेय एवं डाॅ. सीबी दास गुप्ता ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संकल्प दिलाया कि वे खाने की टेबल पर नमक की डिब्बी नहीं रखेंगे, खाने में अतिरिक्त नमक नहीं डालेंगे और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने की दवा डॉक्टर की सलाह पर नियमित लेंगे। इन वक्ताओं ने कहा कि भारत में हर 4 में से 1 व्यक्ति को ब्लड प्रेशर या डायबिटीज है। उच्च रक्तचाप के शुरुआत में कोई लक्षण नजर नहीं आते, इसलिए रोगी को देरी से इसका पता चलता है। लोगों को उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण व रोकथाम के उपायों पर जानकारी दी गई। डाॅ. पुरुषोत्तम मित्तल, डाॅ. एमएल अग्रवाल, डाॅ. अविनाश बंसल, डाॅ. गीता बंसल, डाॅ. जेके बरथूनिया, डाॅ. नवनीत बागला, डाॅ. दिनेश जिंदल ने लोगों के सवालों के जवाब दिए। सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डाॅ. पुरुषोत्तम मित्तल ने बताया कि हार्ट शरीर के सभी अंगों को नलिकाओं द्वारा रक्त को पहुंचाने का कार्य करता है। इसी रक्तप्रवाह के समय हार्ट एक दबाव पैदा करता है, जो रक्त नलिकाओं के अंदरूनी भाग पर पड़ता है। इस दबाव को रक्तचाप या ब्लड प्रेशर कहते हैं। डॉक्टरों ने कहा दिन में 5 बार सब्जी या फल खाएं, दो घंटे से ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग नहीं करें। एक घंटा व्यायाम जरूर करें, फास्ट-फूड नहीं खाएं। संगोष्ठी में आईएसटीडी की चेयरपर्सन अनिता चौहान ने चिकित्सकों का अभिनंदन किया।

विचार गोष्ठियां हुईं

हाइपरटेंशन डे पर जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों पर निशुल्क एनसीडी कैंप लगाए गए। इनमें उच्च रक्तचाप एवं मधुमेह की निशुल्क जांच की गई। सीएमएचओ डॉ. भूपेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि भारत सरकार द्वारा संचालित एनपीसीडीसीएस कार्यक्रम के तहत 30 वर्ष या उससे अधिक आयु के मरीजों की निशुल्क बीपी एवं मधुमेह की जांच की जाती है। सीएचसी सुल्तानपुर में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. घनश्याम मीणा की अध्यक्षता में गोष्ठी हुई। यूपीएचसी शॉपिंग सेंटर में चिकित्सा अधिकारी डॉ. मुकेश सुवालका ने मरीजों को उच्च रक्तचाप के बारे में जागरूक किया। जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. प्रियंका जांगिड़ ने जिले की विभिन्न पीएचसी का औचक निरीक्षण किया।

X
Kota News - rajasthan news doctors say eat fruits and vegetables exercise regularly avoid hypertension
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543