पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Kota News Rajasthan News Due To The Kidnapping Of A Newly Married Daughter Father Died Due To Kidnapping Family Members Were In Shock Doctors Told The Heart Attack Because Of

नवविवाहित बेटी के अपहरण से परेशान पिता की मौत परिजन बोले-सदमे में थे, डाॅक्टराें ने हार्ट अटैक को बताया कारण

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नवविवाहित बेटी शोभा का चार दिन पहले बंदूक की नोक पर बदमाश द्वारा अपहरण करने के मामले में नया माेड़ अा गया। शनिवार सुबह शाेभा के पिता नवलकिशोर की मौत हो गई। परिजनाें का कहना है कि वे अपनी बेटी के अपहरण और पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करने के सदमे को सह नहीं सके। परिजन उन्हें सुबह निजी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। डॉक्टर साइलेंट हार्ट अटैक काे माैत का कारण बता रहे हैं, लेकिन फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है। मौत की खबर जैसे ही परिजनों, दोस्तों और सामाजिक संगठनों को लगी तो बड़ी संख्या में लाेग सुबह 9 बजे एमबीएस के पोस्टमार्टम रूम पहुंच गए। परिजनों ने मोर्चरी के बाहर जमकर हंगामा किया। उन्हाेंने आरोपी की गिरफ्तारी, युवती को बरामद करने की मांग पर शव उठाने से इनकार कर दिया।

परिजनों की मांग थी कि 50 लाख रुपए की सहायता और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दो। लाेगाें ने आईजी ऑफिस के घेराव और सीएडी सर्किल पर शव रखकर प्रदर्शन करने की चेतावनी दे डाली। इसके बाद नयापुरा डीएसपी ऑफिस में पुलिस-प्रशासन व मृतक के परिजनों के बीच करीब 2 घंटे तक वार्ता चली, लेकिन उसका कोई निष्कर्ष नहीं निकला। इस पर लाेगाें ने आईजी व संभागीय आयुक्त ऑफिस के बाहर शव रखकर प्रदर्शन किया। प्रशासन ने जब कुछ मांगों पर सहमति जताई तो मामला शांत हुआ।

मृतक नवलकिशोर।

तेवर
पोस्टमार्टम रूम पर डीएसपी भगवत सिंह हिंगड़ ने समझाइश के काफी प्रयास किए, लेकिन परिजन शर्तों पर अड़े रहे। डीएसपी ऑफिस में एएसपी राजेश मील और एडीएम प्रशासन वासुदेव मालावत की सामाजिक संगठनों व परिजनों से करीब 2 घंटे तक वार्ता चली, लेकिन उसका कोई निष्कर्ष नहीं निकला। सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधित्व कर रहे हौसला प्रसाद शुक्ला, ओम गुप्ता, राजेन्द्र जैन, सुधीर तांबी, मुकेश जोशी, रमेश राठौर, गजेंद्र भार्गव व अन्य शव को पोस्टमार्टम रूप से ले गए।

प्रमुख 4 मांगे, जिन पर पुलिस-प्रशासन ने दिए यह आश्वासन

समझाइश नहीं हुई तो शव के साथ 3 जगह किया प्रदर्शन व हंगामा
1. पुलिस 24 घंटे में विवाहिता को बरामद करे व आरोपी माेनू पठान को गिरफ्तार करे। ऐसा नहीं होने पर आंदोलन करेंगे। कोटा बंद भी किया जाएगा।

मोर्चरी व एमबीएस के बाहर प्रदर्शन के बाद आईजी ऑफिस का घेराव भी किया परिजनों व आक्रोशित लोगों ने।

तकरार
पोस्टमार्टम रूम के बाहर सामाजिक संगठनाें के पदाधिकारियाें और उद्योग नगर सीआई विजयशंकर शर्मा के बीच तीखी तकरार हो गई। लाेगाें ने कहा कि पुलिस अपना काम नहीं कर रही इसलिए आज एक बेटी के सिर से पिता का साया उठ गया। सीअाई शर्मा ने कहा कि आप लोग ही पुलिस को काम नहीं करने दे रहे। लाेगाें ने कहा कि 10 सीआई हमारी आवाज दबाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हमारी आवाज नहीं दबा सकते। अगर पुलिस अपराध पर नियंत्रण का काम करे तो यह नौबत नहीं आए।

2. गुंडे धमकियां देते हैं, परिजनों की सुरक्षा की गारंटी कौन लेगा? पुलिस ने कहा कि सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है। घर के बाहर गार्ड तैनात कर दी गई।

लोग बोले-10 सीआई मिलकर भी हमारी आवाज नहीं दबा सकते
सामाजिक संगठनों के लोगों ने कहा-पुलिस अपना काम ढंग से करती तो आज यह नौबत नहीं आती।

3. मृतक के परिजनों को 10 लाख के मुआवजे की मांग हुई। प्रशासन ने कहा कि सरकारी नियमों के अनुसार 2 लाख का मुआवजा दिलाने की काेशिश करेंगे।

बेटियां बोली- पिता को ले चलो घर, मत रखो सड़क पर
चेतावनी
शर्मा ने कहा कि बदमाश बहन-बेटियों को बंदूक की नोक पर उठा ले जा रहे हंै, इससे लगता है कि कांग्रेस राज में महिलाएं, बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। अगर पुलिस 24 घंटे में बदमाशों को पकड़कर बेटी को बरामद नहीं करती है तो शहर की जनता सड़कों पर आ जाएगी। आंदोलन किया जाएगा, कोटा बंद करना पड़ा तो करेंगे। वहीं, केपाटन विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने कहा कि दो दिन में पुलिस लड़की को नहीं लाती तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। रविवार को समाज के संगठनों ने भी बैठक भी रखी गई है।

जब आईजी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन चल रहा था, तो पिता के शव पर लिपटी हुई बेटियों ने कहा कि उनके पिता को घर ले चलो, कोई सड़क पर मत रखो। वहीं, मृतक की प|ी प्रेमलता भी बार-बार बेसुध हो रही थी। रोते-राेते वे कई बार बेसुध हो गई, जिन्हें परिजनों ने हिम्मत देकर संभाला।

आईजी ऑफिस के बाहर शव रख की नारेबाजी, रास्ता किया डायवर्ट : पुलिस-प्रशासन की परिजनों व सामाजिक संगठनों से वार्ता विफल होने के बाद लाेग वापस पोस्टमार्टम रूम गए और वहां से रैली के रूप में शव को लेकर आईजी और संभागीय आयुक्त ऑफिस के बाहर पहुंचे। जहां परिजनों ने सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। कुछ देर बाद बर्फ की सिल्लियां मंगवाई गई और टेंट लगवा दिया गया। भारी भीड़ को देखते हुए शहर के सभी थानाधिकारियों के अलावा आरएसी के जवानों को लगाया गया। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष हेमंत विजयवर्गीय, भाजपा नेता राकेश नायक, गिर्राज गौतम, मन्नू शर्मा, शैलेन्द्र ऋषि, हरीश राठौर, पार्षद रमेश आहुजा समेत अन्य मौके पर मौजूद रहे।

24 घंटे में बदमाशों को नहीं पकड़ा तो आंदोलन करेंगे: संदीप शर्मा
4. पुलिस-प्रशासन ने कहा कि सरकारी नौकरी देने का निर्णय उनके स्तर पर संभव नहीं है। लेकिन, वे इस मामले में हर संभव सहायता करेंगे।

शर्मा बोले- कोटा बंद के लिए भी तैयार, विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने पुलिस को दी 2 दिन की मोहलत

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें