कालाबाजारी जाेराें पर; 8 का मास्क 70 रुपए तथा 50 का सेनेटाइजर 350 रुपए में बेच रहे

Kota News - कोरोना महामारी के बीच आवश्यक वस्तु बन चुके मास्क व सेनेटाइजर की शहर में जमकर कालाबाजारी हो रही है। पूरा...

Mar 22, 2020, 08:30 AM IST

कोरोना महामारी के बीच आवश्यक वस्तु बन चुके मास्क व सेनेटाइजर की शहर में जमकर कालाबाजारी हो रही है। पूरा प्रशासनिक तंत्र इस कालाबाजारी को रोकने में विफल साबित हो रहा है। अव्वल तो बल्क में इनकी बिक्री की ही नहीं जा रही, खुदरा में ग्राहकों से एक-एक मास्क के कई गुना दाम वसूले जा रहे हैं। छात्र लेखराज योगी ने बताया कि कोटड़ी स्थित एक मेडिकल स्टोर से 70 रुपए में सामान्य सर्जिकल मास्क खरीदा व 100 एमएल के सेनेटाइजर के 350 रुपए ले लिए। आज जब मैंने अखबार में सरकार द्वारा तय की गई दरें पढ़ी तो हैरान रह गया, क्योंकि उसमें मास्क की कीमत अधिकतम 10 रुपए दी हुई थी। मैंने वही मास्क खरीदा था, लेकिन मुझसे 7 गुना ज्यादा पैसे वसूल लिए। ऐसी ही बात कुन्हाड़ी में हॉस्टल चलाने वाले विनय ने बताई, उनके यहां रहने वाले स्टूडेंट्स कुन्हाड़ी की ही दुकानों से 60-60 रुपए में ब्लैक मास्क खरीदकर लाए, जबकि ये सामान्य फेब्रिक के बने हुए हैं और इनकी इतनी कीमत किसी भी रूप में जस्टिफाई नहीं है। बमुश्किल 2-5 रुपए में यह मास्क तैयार हो सकता है।

दुकानदारों ने कहा-मास्क नहीं है, आगे से ही नहीं आ रहे : भास्कर ने शनिवार को खुद लाडपुरा व रामपुरा के बाजारों में कई दुकानों पर मास्क मांगे, लेकिन दुकानदारों ने उपलब्ध होने से मना कर दिया। कुछ अन्य लोगों को भी भास्कर ने ग्राहक के तौर पर मास्क खरीदने भेजा, लेकिन उन्हें भी मास्क नहीं दिए गए। सभी दुकानदार बोले-मास्क उपलब्ध नहीं है। जबकि प्रशासन दावा कर रहा है कि शहर में पर्याप्त मात्रा में मास्क उपलब्ध है।

रसद, ड्रग व पुलिस ने की रेड, ईसी एक्ट में होगी कार्रवाई


शनिवार शाम को रसद विभाग, औषधि नियंत्रण संगठन तथा पुलिस की संयुक्त टीमों ने 4 जगह जांच की। नयापुरा में मिलिट्री डिस्पोजल स्टोर व इससे जुड़ी अन्य दुकानों पर जांच की गई, यहां बड़े पैमाने पर अनियमितताएं मिली। ड्रग इंस्पेक्टर रोहिताश्व नागर ने बताया कि यहां काले मास्क बनाकर 35 से 40 रुपए में बेचे जा रहे थे। वहीं सर्जिकल मास्क भी 10 से 15 रुपए में बिक्री की बात सामने आई। सर्जिकल मास्क की कीमत भारत सरकार ने खुदरा मार्केट में दो प्लाई वाले की कीमत 8 रु. तथा 3 प्लाई की कीमत 10 रुपए तय की है। वहीं, 200 एमएल तक के सेनेटाइजर की कीमत 100 रुपए तय की गई है। इसी तरह रामपुरा व जीएमए प्लाजा में एक ही फर्म अग्रवाल फैंसी स्टोर की दो दुकानों पर जांच हुई, जहां सामने आया कि इंदौर से खरीदकर सेनेटाइजर बेचा गया, जिसकी कीमतें ज्यादा वसूली गई। उधर, मेडिकल कॉलेज के सामने एक मेडिकल स्टोर पर भी मास्क की ओवररेट संबंधी शिकायत पर महावीर नगर पुलिस ने जांच की। हालांकि वहां ऐसी कोई अनियमितताएं नहीं पाई गई। डीएसओ कपिल झाझरिया ने बताया कि टीमों की रिपोर्ट्स का विश्लेषण करके कार्रवाई की जाएगी।

किराना व जनरल स्टाेर की दुकानाें पर जमकर खरीदारी, व्यापारी कालाबाजारी मंे जुटे

काेराेना से जहां अधिकतर बाजाराें मंे शनिवार काे सन्नाटा पसरा रहा। वहीं किराना, जनरल स्टाेर, बेकरी, सब्जियाें की दुकानाें पर जमकर खरीदारी हुई। दुकानाें पर लाेग दाल-चावल, अाटा, शक्कर, तेल, मसाले, बेसन, बिस्किट ज्यादा खरीद रहे हैं। थाेक मार्केट में सामान भी खत्म हाेने लगा है। तेल शक्कर अादि चीजें, दुकानाें से गायब हाे गई हैं। लाेगाें ने कई चीजाें के दाम भी बढ़ा दिए। महंगे दाम पर चीजें खरीदनी पड़ रही है। कई व्यापारी काला बाजारी में जुट गए हैं। शनिवार काे दादाबाड़ी, तलवंडी, जवाहरनगर में सन्नाटा पसरा रहा। यहां कपड़े, जूते, माेबाइल शाॅप, रेस्टारेंट अादि खुले रहे, लेकिन यहां ग्राहकी न के बराबर थी। दुकानाें पर सन्नाटा पसरा रहा। पुराने बाजाराें में भी खाने-पीने की दुकानाें पर ही ग्राहकी रही। थाेक व्रिक्रेताअाें के यहां तेल, शक्कर अाैर अाटा, चावल-दाल की जमकर खरीदी हुई। सब्जियां भी खूब बिकी। अालू, प्याज अाैर टमाटर सबसे ज्यादा बिके। इसमें कई दुकानाें पर ज्यादा रेट में चीजें दी गईं। हालांकि सरकार ने इन सब दुकानाें काे खुलने के अादेश जारी किए हैं। उसके बाद भी बाजार में हड़कंप मचा हुअा है। लाेग जरूरत से ज्यादा सामान खरीद रहे हैं। कई लाेगाें का कहना है कि इसके चक्कर में दुकानदार रेट ज्यादा वसूल रहे हैं। कई दुकानाें पर किराने का सामान खत्म हाे गया। व्यापारियाें का कहना है कि अगर अागे से यह सामान नहीं अाया ताे अाने वाले दिनाें मंे ज्यादा दिक्कतेें हाे सकती है।

_photocaption_खाईरोड की एक दुकान में जांच करती ड्रग विभाग की टीम।*photocaption*

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना