• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kota
  • Kota News rajasthan news if bharesa is on himself god will write what you want take your special quality with you you will get success deepa

अगर खुद पर भराेसा है तो भगवान वही लिखेगा जो तुम चाहोगे, अपनी स्पेशल क्वालिटी को साथ लेकर चलो...सफलता मिलेगी : दीपा

Kota News - कोटा | पदमश्री दीपा मलिक रविवार को कोटा आईं। यहां कोचिंग स्टूडेंट्स की मेहनत व लगन वे काफी प्रभावित हुईं। बच्चों...

Dec 09, 2019, 09:20 AM IST
Kota News - rajasthan news if bharesa is on himself god will write what you want take your special quality with you you will get success deepa
कोटा | पदमश्री दीपा मलिक रविवार को कोटा आईं। यहां कोचिंग स्टूडेंट्स की मेहनत व लगन वे काफी प्रभावित हुईं। बच्चों को उन्होंने व्यक्तिगत रूप से मंच से संबोधित करके मोटिवेट किया। दैनिक भास्कर ने दीपा मलिक की एक मोटिवेशनल चिट्ठी तैयार की, जिसमें वह बच्चों को अपने जीवन से मोटिवेट कर रही है।

सोनीपत की दीपा मलिक पहली भारतीय महिला एथलीट हैं, जिन्होंने पैरालिंपिक खेलों में मेडल जीता। वे पद्मश्री और अर्जुन पुरस्कार के अलावा राजीव गांधी खेल र| पुरस्कार पाने वाली पहली पैरालिंपिक एथलीट हैं। वे देश की पहली दिव्यांग महिला हैं, जिन्हें ‘फेडरेशन ऑफ इंडिया मोटर स्पोर्ट्स क्लब’ की ओर से अधिकारिक रूप से रैली लाइसेंस दिया गया है। वे भारत की सबसे कठिन कार रैली ‘रेड दे हिमाचल’ 2009 एवं डेजर्ट स्टॉर्म 2010 में हिस्सा ले चुकी हैं। दीपा के कमर से नीचे का हिस्सा लकवाग्रस्त है। 17 साल पहले रीढ़ में ट्यूमर के कारण उनका चलना असंभव हो गया था, दीपा के 31 ऑपरेशन किए गए

पदमश्री पैरािलंपियन दीपा मलिक ने स्टूडेंट्स के लिए लिखा लैटर, पढ़ें सिर्फ भास्कर में

प्लान बी तैयार रखो...भरोसा मत खोना

प्यारे बच्चो, अगर ईश्वर पर भरोसा है तो जो किस्मत में लिखा है वो मिलेगा। अगर खुद पर भरोसा है तो भगवान वो लिखेगा जो तुम चाहोगे। तुम सबसे मिलकर अच्छा लगा। इसीलिए खुद पर कभी भी भरोसा मत खोना, चाहे कितनी भी असफलताएं जीवन में आए। तुम बहुत प्रतिभाशाली हो। अपनी प्रतिभा पर कभी शक मत करना। बच्चो यहां मेडिकल और इंजीनियरिंग एंट्रेंस की तैयारियां कर रहे हो, लेकिन जिंदगी में हमेशा प्लान बी भी तैयार रखना। मेरी जिंदगी में मुझे यही सीख मिली है। पहले शॉटपुट में परफाॅर्म किया। फिर जेवेलिन थ्रो में, फिर तैराकी में। जिंदगी बदलती रही तो मकसद भी बदलते रहे। मेहनत से सफलता मिली। तुम अपनी एक अलग क्वालिटी को साथ में लेकर चलो...सफलता मिलेगी।

गुरुजनों व परिजनों का आदर करो, उनका कहना मानो

बच्चों, पाठशाला में सीखी गई बातें ही जिंदगी भर काम आती हैं। मेरे पिताजी मेरे सबसे बड़े आदर्श थे। मुझे हमेशा मोटिवेट किया। इस कारण जीवन की चुनौतियों को पार कर पाई। तुम भी हमेशा अपने गुरुजनों व माता-पिता की बात काे मानना है। बचपन में पाठों, कविताओं, कहानियाें व कक्षाओं में जो सीख मिलती है, वही जिंदगी भर काम आती हैं। गुरुजनों और परिजनों का हमेशा आदर करो और उनका कहना मानो।

सनक को पागलपन कहेंगे लोग

मुझे नदी में उतरकर तैरना था। इसके लिए मुझे जिद पकड़नी पड़ी थी, क्योंकि हिंदुस्तान ने उस महिला को पहाड़ों में मोटरसाइकिल चलाते, नदी में बहाव के खिलाफ तैरते, पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर मोटरसाइकिल चलाते हुए नहीं देखा था। मेरी सनक को लोगों ने पागलपन तक कहा। मैंने गाड़ियों में अपने हिसाब से बदलाव करवाए, नए-नए शहर जाना पड़ा, बहुत ट्रैवल किया, बहुत लोगों की मदद मांगनी पड़ी। पैसा एकत्रित करने के लिए खुद मोटिवेशनल सेशंस करती, रैलियों की स्पॉन्सरशिप से पैसा बचाया, रेस्टोरेंट चलाकर पैसा जुटाए। इसी शरीर से कुछ करना चाहती थी। अब मैं खुश हूं कि जैसा सोचती थी, आज मैं इतने देशों में घूम चुकी हूं कि मेरा तीसरा पासपोर्ट भी भरने वाला है।

Kota News - rajasthan news if bharesa is on himself god will write what you want take your special quality with you you will get success deepa
X
Kota News - rajasthan news if bharesa is on himself god will write what you want take your special quality with you you will get success deepa
Kota News - rajasthan news if bharesa is on himself god will write what you want take your special quality with you you will get success deepa
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना