पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Kota News Rajasthan News Passengers Please Note 60 Trains Affected Due To Rain So It Is Difficult To Get Tickets On Rakhi In 4 Days The Railways Also Lost 9 Crores

यात्रीगण कृपया ध्यान दें; बारिश से 60 ट्रेनें प्रभावित, इसलिए राखी पर टिकट मिलना मुश्किल, 4 दिन में रेलवे को 9 करोड़ का नुकसान भी हुआ

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | कोटा

मुंबई व बड़ाैदा में भारी बारिश के कारण रेल यातायात प्रभावित होने का असर रक्षाबंधन तक ट्रेनों पर रहेगा। पिछले चार दिनों में 60 ट्रेनाें रद्द व डायवर्ट हाेने से 60,000 से अधिक यात्री यात्रा नहीं कर सके। इसका असर रक्षाबंधन व उसके बाद भी पड़ने की उम्मीद है। ट्रेनें नियमित रूप से चलें तब भी त्याैहार के कारण रश बढ़ेगा। 60 ट्रेनों के रद्द व डायवर्ट होेने से रेलवे को लगभग 9 कराेड़ रुपए से अधिक का नुकसान हुअा है। साथ ही यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा है।

मुंबई व बड़ाैदा में बरसात के कारण 4 अगस्त से कई रूट की ट्रेनों को रद्द व डायवर्ट किया गया है। इस कारण यात्रियों को अारक्षित टिकट रद्द करवाने पड़े हैं। रेलवे ने कुछ ट्रेनों को प्राॅपर रूट से ही चलाना शुरू किया है। रेल यातायात सामान्य होने में अभी भी तीन से चार दिन लगने की उम्मीद है। इसका कारण ये है कि लंबी दूरी की जिन ट्रेनों के रैक अटके हुए हैं। वो अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचेंगे तभी रेल यातायात सामान्य होने की उम्मीद है।

एक एक्सप्रेस ट्रेन रद्‌द होने पर 15 लाख का नुकसान

राखी पर अमृतसर, फिरोजपुर, लखनऊ, इलाहाबाद, चंडीगढ़, गोरखपुर जाने वाली ट्रेनों में रिजर्व टिकट मिलना मुश्किल

बरसात के कारण चार दिनों में लगभग 60 ट्रेनें रद्द व डायवर्ट हुई है। एक ट्रेन रद्‌द होने से रेलवे को लगभग 15 लाख का नुकसान होता है। इससे रेलवे को लगभग 9 कराेड़ का नुकसान हुअा है। स्वर्ण मंदिर मेल को डायवर्ट व अवध एक्सप्रेस अाैर मुंबई-जयपुर सुपरफास्ट ट्रेन काे रद्द करने से अमृतसर, देहरादून, फिरोजपुर, मुजफ्फरपुर, लखनऊ, गोरखपुर, चंडीगढ़, पुणे, जयपुर जाने वाले यात्रियों को सबसे अधिक परेशानी हुई।

अागे इन क्षेत्रों के लोगों को हो सकती है परेशानी

रक्षाबंधन पर ट्रेनों में रश होने से अमृतसर, फिरोजपुर, लखनऊ, इलाहाबाद, चंडीगढ़, गोरखपुर की तरफ जाने वाली ट्रेनों में यात्रा करने के इच्छुक यात्रियों को कन्फर्म अारक्षित टिकट मिलना मुश्किल है।

ये ट्रेन नहीं अाई कोटा: बांद्रा-गोरखपुर, मडगांव-चंडीगढ़, मुंबई-फिरोजपुर, मुंबई- अमृतसर स्वर्ण मंदिर मेल 7 अगस्त को कोटा नहीं अाई। कोच्चिवेली-चंडीगढ़ ट्रेन परिवर्तित रूट से चलाई गई।

लेट रही ट्रेन: हावड़ा-गांधीधाम ट्रेन 4.25 घंटे, गोरखपुर-बांद्रा अंत्योदय एक्सप्रेस 2 घंटे, अजमेर-दुर्ग ट्रेन 1 .10 घंटे, मुजफ्फरपुर-बांद्रा अवध एक्सप्रेस 3.15 घंटे देरी से पहुंची। जोधपुर-इंदाैर 3.15 मिनट लेट अाई।

जयपुर के यात्री भी परेशान: मुंबई से जयपुर के बीच चलने वाली ट्रेन पर अब दयोदय एक्सप्रेस के यात्रियों का बोझ भी अा गया है। क्योंकि जबलपुर से अजमेर के बीच चलने वाली ट्रेन फिलहाल जबलपुर से कोटा के बीच ही चल रही है। इसी तरह कोटा से जबलपुर के बीच चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेन भी रद्द है। इंदाैर-जोधपुर ट्रेन भी अागामी दिनों में रद्द होने वाली है। इससे भी यात्री जयपुर व जोधपुर नहीं जा पाएंगे।

फैक्ट फाइल

94 रेलवे स्टेशन है कोटा रेल मंडल में।

16 हजार करते हैं रोज अारक्षित टिकट पर यात्रा

93 हजार यात्री राेज अनारक्षित टिकटाें पर यात्रा करते हैं रेल मंडल में

45.61 लाख की रोज आय अनारक्षित टिकटों से

69.31 लाख आरक्षित टिकटों से आय होती है।

पिछले साल पूरे अगस्त में 89 एमएम बारिश, इस बार महीने के पहले हफ्ते में ही 100 MM पानी बरसा

अब तक हो चुकी 785 एमएम बरसात, पूरे मानसून की औसत बारिश से 145 एमएम ज्यादा पानी बरसा

पिछले साल अगस्त के पूरे महीने में कुल 89 एमएम बरसात हुई थी। इस बार 1 से 7 अगस्त तक ही कुल 101 एमएम बरसात हुई है। मंगलवार काे 86.2 एमएम बरसात दर्ज की गई, जाे इस सीजन की सबसे अधिक बारिश है। वहीं मंगलवार रात 11.30 बजे से बुधवार सुबह साढ़े 8 बजे तक 14 एमएम बारिश हुई।लगातार बारिश होने व बादल छाए रहने के कारण अधिकतम व न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। शहर का अधिकतम तापमान 32.2 डिग्री से गिरकर 30.2 डिग्री पर आ गया। न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री से लुढ़ककर 24.3 डिग्री तक गिर गया। सुबह की आर्द्रता का प्रतिशत 95 व शाम का 83 प्रतिशत दर्ज किया गया।

भास्कर नॉलेज

मौसम विशेषज्ञ राजेंद्र सिंह बताते हैं कि पिछले दिनों हाड़ौती में बहुत अधिक उमस थी। इस कारण उत्तर से ठंडी हवाओं व दक्षिण की गर्म व आर्द्र हवाओं के मिलन के कारण 6 अगस्त को मूसलाधार बरसात हुई। उधर, बंगाल की खाड़ी में अति निम्न दाब का क्षेत्र एक चक्रवाती परिसंचरण के साथ निर्मित हो रहा है। इस कारण आने वाले दिनों में भी तेज बरसात हो सकती है। उधर, राज्य मौसम विभाग ने अगले 12 घंटे में कोटा में भारी बरसात की चेतावनी दी है। हालांकि बुधवार सुबह 11 बजे के बाद बरसात नहीं हुई।

उत्तर व दक्षिण की गर्म हवाअाें के कारण हुई बरसात

खबरें और भी हैं...